आतंकवाद के खिलाफ चीन और भारत की उच्च स्तरीय बैठक

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः आतंकवाद से लड़ने के मुद्दे पर भारत और चीन के अधिकारियों ने मंगलवार को यहां पहली बार एक उच्च स्तरीय वार्ता की, जिसमें दोनों देशों ने इस मामले में सहयोग बढ़ाने पर चर्चा की। भारत सरकार के एक अधिकारी ने कहा, “दोनों पक्षों ने आतंकवाद से मुकाबले, सुरक्षा और सुरक्षा खतरों से निपटने के लिए मिलकर कदम उठाने तथा इस संबंध में महत्वपूर्ण सहमति बनाने के लिए सहयोग बढ़ाने पर विस्तृत चर्चा की।”  अधिकारी ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय सुरक्षा की स्थिति पर दोनों पक्षों ने अपने विचार साझा किए। दोनों पक्षों ने सापेक्षिक नीतियों, प्रणलियों और आतंकवाद से मुकाबला करने वाले कानून तथा दोनों देशों की प्रमुख चिंताओं के मुद्दे पर अपनी समझदारी और बढ़ाने को लेकर सूचनाओं का आदान-प्रदान किया। भारत ने चीन के साथ आतंकवाद का मुद्दा लगातार उठाया। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ अपनी मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से आतंकियों की घुसपैठ के बारे में उन्हें बताया था। जम्मू एवं कश्मीर के उड़ी में एक सैन्य शिविर पर हमले के 10 दिनों के बाद यह बैठक हुई, जिसमें 18 सैनिक शहीद हो गए थे।  भारत की संयुक्त खुफिया समिति के अध्यक्ष आर.एन. रवि और चीन के केंद्रीय राजनीतिक एवं वैधानिक मामलों के आयोग के महासचिव वांग योंगकिंग ने बैठक की संयुक्त अध्यक्षता की।

Share This Post

Post Comment