चाैमूं नगरपालिका की लापरवाही से स्वच्छता अभियान की खुली पोल

जयपुर, राजस्थान/विकाश कुमार शर्माः शहर में इन दिनों मौसमी बीमारियों का प्रकोप चल रहा है, उसके बावजूद नगरपालिका प्रशासन ने अभी तक कचरा उठाने के मामले को गंभीरता से नहीं लिया। जिससे शहर में जगह-जगह कचरे के ढेर लगे हुए हैं। इन कचरे के ढेरों से पनपने वाले मच्छर आमजन को काटते हैं, जिससे मलेरिया डेंगू जैसी बीमारियां हो रही है। जिससे कई लोग इस बीमारी का शिकार हो चुके हैं। नगरपालिका प्रशासन की ओर से कचरा समस्या के समाधान के लिए लाखों रुपए खर्च होने के बावजूद भी प्रशासन ने अभी तक इस मामले की कोई सुध नहीं ली । सिर्फ स्थानीय नेता एवं जनप्रतिनिधि फोटो खिंचवाने के लिए सिर्फ झाड़ू हाथ में लेकर सफाई अभियान का गुणगान करते रहते हैं। और फोटो खिंचवाने के बाद आमजन में वाही वाही लूटने के लिए उसे सोशल मीडिया के जरिए वायरल कर देते हैं। शहर में 2 दिन पूर्व वार्ड 29 में भाजपा पार्षद बलदेव टांक द्वारा फाेगिंग करवाया गया था, जो आम जनता के सामने वाही – वाही साबित करने के लिए , जिस की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल की गई थी। जिसमें साफ तौर पर दिखाई दे रहा था कि पार्षद महोदय सिर्फ फोटो खिंचवाने के लिए खड़े दिखाई दे रहे थे। वहीं दूसरी ओर शहर के वार्ड नंबर 13 में कांग्रेस पार्षद पति कमल भातरा का भी यही नजारा देखने को मिला, वह भी अपने वार्ड में फाेगिंग करवा रहे थे। जिस की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल की गई थी। शहर में स्थानीय जनप्रतिनिधियों की लापरवाही के चलते मंदिरों को भी नहीं बख्शा गया और मंदिरों के पास ही कचरे के ढेर लगे दिखाई दे रहे । पास नहीं शीतला माता मंदिर व श्री कल्याण जी महाराज का मंदिर स्थित हैं । इस गंदगी व कचरे के लगे ढेर के काऱण आने वाले श्रद्धालुओं को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। वही स्थानीय निवासियों का कहना है कि चुनावाे के समय नेता घर – घर आकर वाेट मागंते है, आैर चुनाव जितने के बाद एक भी नेता वार्ड की समस्या के लिए आगे नहीं आते हैं, जिनकी घोर लापरवाही आमजन के सामने साबित हो रही है।

Share This Post

Post Comment