गुटखा बैन के बावजूद चबाने वाले तंबाकू की बिक्री पर सुप्रीम कोर्ट सख्त

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः गुटखा बैन पर पाबंदी के बावजूद सार्वजनिक जगहों पर इसकी खुलेआम बिक्री पर सुप्रीम कोर्ट ने कड़ा रूख अपनाया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि सभी तरह के चबाने वाले तंबाकू पर पाबंदी लगनी चाहिए. इस संबंध में अदालत ने संबंधित अधिकारियों और फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड ऑथोरिटी ऑफ इंडिया (एफएसएसएआई) को उचित कदम उठाने के निर्देश दिए हैं. जस्टिस वी गोपाल गोडा और आदर्श के गोयल की खंडपीठ ने इस मामले की सुनवाई करते हुए साफ कहा कि चबाने वाले तंबाकू की बिक्री तत्काल बंद होनी चाहिए. दरअसल, पिछले कुछ महीनों से कुछ कंपनियां पान मसाला को अलग-अलग पैक में तंबाकुरहित बताकर बेच रही है. सेहत के साथ खिलवाड़ करने वाली इसी लापरवाही को वरिष्ठ वकील गोपाल सुब्रमण्यम ने अदालत को अवगत कराया था. ग्लोबल एडल्ट टोबेको सर्वे 2010 के मुताबिक, भारत में करीब 35 फीसदी युवा तंबाकू का सेवन करते हैं. इसकी तादाद 27.5 करोड़ के आसपास है. सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिंवेशन एंड द नेशनल इंस्टीट्यूट के 2014 की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत और बांग्लादेश में तंबाकू सेवन करने वालों की तादाद पूरी दुनिया में करने वालों की 80 फीसदी है.

Share This Post

Post Comment