दारोगा जी का घुस लेते पुलिस को शर्मसार करने वाला वीडियो आया सामने

पटना, बिहार/नगर संवाददाताः राजधानी में कानून-व्यवस्था की जिम्मेदारी जिन कंधो पर है। वो लगातार अपनी जिम्मेदारी का मखौल उड़ाते दिख रहे है। करता एक है पर शर्मसार पुरे डिपार्टमेंट को होना पड़ता है। ठीक ऐसा ही एक मामला कदमकुआं थाना में पदस्थापित एक दारोगा गजेंद्र सिंह का है। प्रेम प्रसंग में लड़की के लापता हाेने से जुड़े एक मामले में दारोगा का रिश्वत लेते वीडियो सामने आया है। रिश्वत कांड के वायरल वीडियों के बाबत मिली जानकारी मामले में मिली प्रेम-प्रसंग से जुड़े एक मामले में कदमकुआं थाना के दारोगा गजेन्द्र सिंह कैमरे में रिश्वत लेते कैमरे में कैद हो गए हैं। अपहरण और रेप के एक मामले कांड संख्या- 367/16 में पीड़ित परिवार को पहले पुलिस थाने के खूब चक्कर लगवाया है। पुलिस ने तीन लड़कों के साथ उनके मां-बाप को भी दुष्कर्म का आरोपी बनाकर एफआइआर दर्ज की। फिर, एक आरोपी नरेश कुमार को जबरन थाना पकड़ लाई और उससे करीब 29 हजार रूपये ले लिए। बीते 13 सितंबर की इस घटना का किसी ने वीडियो बना लिया। इस बाबत कदमकुआं थाना प्रभारी गुलाम सरवर ने बताया कि कदमकुआं इलाके से एक लड़की लापता हो गई है। इस संबंध में उसके परिजनों ने तीन लड़कों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई है। कांड में लड़कों के मां-बाप को भी आरोपी बना दिया गया है। थाना प्रभारी ने माना कि लड़कों के मां-बाप पर लगाए गए आरोप गलत हैं, हालांकि वे इस संबंध में बोलने से इंकार कर गए कि मुकदमे में अभी तक उनका नाम क्यों चल रहा है। साथ ही थाना प्रभारी के अनुसार इस कांड के अनुसंधनकर्ता गजेंद्र सिंह पर 13 सितंबर को रिश्वत लेने का आरोप लगा है, जिसकी जांच की जा रही है। यह मामला शनिवार को तब प्रकाश में आया, जब पीड़ित वीडियो लेकर एसएसपी के पास पहुंच गया।वही एसआई की घूसखोरी का वीडियो देखकर एसएसपी मनु महराज सकते में आए गए। साथ ही मामले की गंभीरता को देखते हुए उन्होंने मामले की जांच की जिम्मेदारी डीएसपी टाउन कैलाश प्रसाद को दी है। साथ ही जल्द से जल्द जांच कर मामले का सच सामने लाने का सख्त निर्देश भी दिया है।

Share This Post

Post Comment