अरविंद केजरीवाल के आने के बाद गैरकानूरी रूप से भ्रष्टाचार

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः अरविंद केजरीवाल के सरकार में आने के बाद गैरकानूनी रूप से भ्रष्टाचार की सीमा लांघ चुका है 5 नंबर ट्रांसपोर्ट अर्थोसिटी डाॅ. विवेक डिप्टी कमिश्नर आॅफ ट्रांसपोर्ट के आने के बाद के यह वसूली 10 गुना बढ़ गई है। इस 5 नंबर पर ट्रांसपोर्ट से वसूली का धंधा इतना भयानक रूप ले चुका है। फिर भी किसी का ध्यान इस पर नहीं है। सभी मिलकर बेचारे ट्रांसपोर्ट को लूट रहे है। वहां सेब के ट्रक अन्य फलों की लोडिंग के 2000 रूपये प्रति ट्रक लिए जाते है। ये हर ट्रक पर आॅवरलोड के 500 रूपये प्रति टल लेते है। अगर ट्रक ड्राइवर इंकार करता है तो उससे वसूली मांगी जाती है। ना करने पर गैरकानूनी इल्जाम लगाकर ट्रकों को रोक दिया जाता है। इस तरह अथोरिटी द्वारा वसूली की गई। रकम से लाखों रूपये लगभग दस लाख रूपये हर माह के इनके जेब में जाते है। ये सारा भ्रष्टाचार फैला है। नंबर 5 पर इसी नंबर के श्री मोहन सिंह एसीपी के घर से 25 साल पहले क्राइम ब्रांच ने 1 करोड़ रूपये वसूल किए थे। ये सभी ऐसे लगता है जैसे चंबल के डाकू हो और अब दिल्ली मे आ गए हों। इतना सब होने पर भी केजरीवाल सरकार इसे रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठा रही। इस नंबर 5 से संबंधित सभी अधिकारियों के पास हजारों की तादाद में बंगले अलग अलग जगहों पर मौजूद है।

Share This Post

Post Comment