नक्सल प्रभावित इलाकों में सार्वजानिक परिवहन ठप

बस्तर, छत्तीसगढ़/नगर संवाददाताः छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित इलाकों के लिए गुरुवार को सार्वजानिक परिवहन ठप रहा. इससे लोगों को खासी दिक्कत का सामना करना पड़ा. माओवादियों के 12 वें स्थापना दिवस के कारण आज बस और ट्रैक्सी संचालकों ने नक्सल प्रभावित इलाकों में बसें और टैक्सी नहीं चलाने का फैसला किया. इस वजह से कल से बसों और टैक्सियों के पहिए थम गए. रेल लाइन पर भी कल से ही यातायात थम गया है. ऐसे में बस्तर के अंदरूनी इलाकों का जनजीवन थम गया है. ट्रेवल्स और बस आपरेटरों सहित टैक्सी संचालकों ने माओवादी करतूत को ध्यान में रखते हुए बतौर एतिहातन यह फैसला लिया. इस वजह से दंतेवाडा, बीजापुर,सुकमा और नारायणपुर जिले के अन्दरूनी इलाकों में बस और टैक्सियां नहीं भेजी गईं. हालांकि मुख्य मार्गों पर कुछ टैक्सियों और बसों के चलने से आंशिक राहत जरूर मिली है, लेकिन अंदरूनी इलाकें यातायात ठप होने से जनजीवन पूरी तरह से थम गया है. कल शाम से जगदलपुर बस स्टैंड से बसों का आवागमन बंद हो जाने से यात्रियों को अपने मुकाम तक पहुंचने के लिए यहां वहां भटकते देखा गया. बस्तर में अभी एक सप्ताह तक तक जनजीवन की रप्तार थमे रहने के आसार हैं.

 

Share This Post

Post Comment