डेंगू के कहर के बावजूद राजकीय बेस अस्पताल में नहीं है डेंगू वार्ड

पौड़ी गढ़वाल/नगर संवाददाताः अब तक मैदानी क्षेत्रों में ही सीमित रहा डेंगू अब पहाड़ी क्षेत्रों में भी तेजी से पैर पसार रहा है. श्रीनगर गढ़वाल में अब तक 30 से अधिक लोगों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है. राजकीय बेस चिकित्सालय में अब तक डेंगू के 26 मरीज आ चुके हैं, जिनमें 2 को अस्पताल में भर्ती किया गया है. जबकि राजकीय संयुक्त अस्पताल में 3 लोगों की जांच में डेंगू की पुष्टि हुई है. अस्पताल में लगातार डेंगू मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. दूसरी तरफ गढ़वाल के पर्वतीय क्षेत्रों के सबसे बड़े राजकीय बेस अस्पताल में अब तक डेंगू का वार्ड ही तैयार नहीं किया गया है. डेंगू मरीजों को आईसीयू में रखा जा रहा है, जो अन्य मरीजों के लिए भी खतरा पैदा कर सकते हैं. डेंगू के प्रति लापरवाह बेस अस्पताल प्रशासन को अब जाकर अस्पताल में डेंगू वार्ड को स्थापित करने की याद आयी है. अस्पताल में काफी समय से बंद पड़े स्वाइनफ्लू वार्ड को झाड़पोंछकर डेंगू वार्ड में तब्दील किया जा रहा है. हालांकि वार्ड के बाहर अब भी स्वाईनफ्लू वार्ड के नाम को हटाया नहीं गया है. बेस अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ.सुरेश जैन का कहना है कि अस्पताल में डेंगू वार्ड तैयार किया जा रहा है. आवश्यक व्यवस्थाएं की जा रही हैं. उनका कहना है कि अस्पताल में डेंगू की जांच किट मौजूद है. चिकित्सक हालांकि डेंगू को फिलहाल नियंत्रण में बताने के साथ ना घबराने की बात कह रहे हैं, लेकिन नगर क्षेत्र में ही रोज बढ़ रहे डेंगू मरीजों की संख्या ने आम आदमी को भी परेशान किया हुआ है. चिकित्सकों का कहना है कि डेंगू के लक्षण मिलने पर पहले कार्ड टेस्ट किया जा रहा है, जिसमें डेंगू की पुष्टि होने के बाद एलाइजा जांच की जा रही है. चिकित्सकों का ये भी कहना है कि कई मरीजों की प्राथमिक जांच में डेंगू की पुष्टि तो हुई है, लेकिन एलाइजा जांच में 3 मरीज ही डेंगू प्रभावित मिले हैं. जिन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया है. जिनमें से एक को स्थिति बिगड़ने पर हायर सैंटर के लिए रैफर कर दिया गया है.

Share This Post

Post Comment