भारत ने नेपाल के पुनर्निर्माण के लिए दिया 75 करोड़ डॉलर का कर्ज़

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः नेपाल में भूकंप बाद के पुनर्निर्माण कार्य के लिए भारत ने शुक्रवार को 75 करोड़ डॉलर का एक नए ऋण का प्रस्ताव किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके नेपाली समकक्ष पुष्प कमल दहाल ‘प्रचंड’ की अध्यक्षता में हुई प्रतिनिधिमंडल स्तरीय वार्ता के बाद किए गए तीन समझौतों में से यह एक है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट किया, “नेपाल के विकास के लिए ताजा प्रोत्साहन। दोनों नेताओं की उपस्थिति में सड़क और पुनर्निर्माण परियोजनाओं पर समझौते हुए।” 75 करोड़ डॉलर का यह ऋण भारत द्वारा नेपाल को विनाशकारी भूकंप के बाद दी गई एक अरब डॉलर सहायता के अतिरिक्त है। नेपाल में पिछले साल अप्रैल में आए विनाशकारी भूकंप में 8,000 से अधिक लोग मारे गए थे। दोनों पक्षों ने इसके अलावा नेपाल के तराई क्षेत्र में सड़क अवसंरचना को सुधारने और उसे उन्नत बनाने के लिए परियोजना प्रबंधन परामर्श सेवा को लेकर समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर भी हस्ताक्षर किए।  इसके अलावा एक और समझौता नेपाल में भूकंप बाद की पुनर्निर्माण परियोजनाओं के लिए डॉलर में दिए गए पहले ऋण में संशोधन को लेकर किया गया। प्रचंड गुरुवार को भारत पहुंचे। नेपाल में नई माओवादी सरकार के पिछले महीने सत्ता संभालने के बाद वह चार दिन के दौरे पर भारत आए हैं। शुक्रवार को इससे पहले प्रचंड का यहां राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया गया। मोदी के साथ अपनी वार्ता से पहले, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने राष्ट्रपति भवन में उनसे भेंट की।

Share This Post

Post Comment