अस्पताल में मौजूद नहीं था स्टाफ, दरवाजे के बाहर हुआ प्रसव

जालोर, राजस्थान/नगर संवाददाताः राजस्थान के जालोर के केशवना में सरकारी अस्पताल के बाहर ही प्रसव होने का मामला सामने आया है. प्रसव पीड़ा होने पर महिला को लेकर परिजन उप स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे. लेकिन सरकारी अस्पताल में स्टाफ मौजूद नहीं था. इस बात की सूचना स्टाफ को दी गई. लेकिन जब तक स्टाफ़ पहुंचा तब तक प्रसव हो गया. और नवजात की मौत हो गई. इससे गुस्साए परिजनों ने यहां हंगामा कर दिया. अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाया. उल्लेखनीय है कि बूंदी जिला अस्‍पताल के मेडिकल वार्ड स्थित शौचालय में पिछले महीने महिला के प्रसव होने के बाद नवजात कन्या को कुत्‍ते द्वारा मुंह में दबोचने का मामला सामने आया. दरअसल, मामला कुछ ऐसा था कि बड़ानया गांव की मानसिक रोगी महिला चरणजीत को बीती रात डाइरिया होने पर मेडिकल वार्ड में भर्ती करवाया था, जिसके के रविवार सुबह शौच के दौरान प्रसव हो गया और उस नवजात कन्या को कुत्‍ता मुंह में दबाकर ले गया.

Share This Post

Post Comment