कोरबा में महिला समूहोंं से 7 करोड़ की ठगी

कोरबा, छत्तीसगढ़/नगर सवांददाताः छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में ठगी के मामले थमने का नाम नहींं ले रहे हैं. अब भोली-भाली महिलाओं को महिला समूह बनाकर लोन दिलाने के नाम पर ठगने का मामला सामने आया है. ठगी के इस मामले में महिला समूहों को करोड़ों रुपए की चपत लगाई गई है. जिला कलेक्टर और एसपी को की गई लिखित शिकायत के अनुसार जिले के दर्री स्थित जमनीपाली में एमआर शिक्षा समिति संचालित है. इस समिति के संचालक शफीक खान ने दर्री थाना क्षेत्र सहित अन्य थाना क्षेत्रोंं में महिला समूहों का गठन करवाया. इसके बाद उसने हर समूह को 20 से 30 हजार के लोन अलग-अलग बैंकोंं से कई बार पास करवा दिए.  आरोप है कि इस लोन की राशि में से 75 प्रतिशत वह खुद रख लेता था और मात्र 25 प्रतिशत राशि ही महिला समूह को देता था, जबकि पूरी राशि का कर्जदार वह महिला समूह हो जाता था. महिला समूह की सदस्‍य तो बस उसके बताए अनुसार कागजों पर हस्ताक्षर कर देती थीं या अंगूठा लगा देती थीं. उन्हें यह बात पता ही नहीं होती थी कि उसके नाम पर वास्तव में कितनी राशि का कर्ज लिया जा रहा है. शिकायत के अनुसार विभिन्न बैंकों से लोन की राशि के रूप में उसने करीब 7 करोड़ रुपए की चपत इन महिला समूहों को लगाई है. महिला समूहों को अपने साथ हुई इस ठगी का पता तब चला जब बैंकों ने उनसे कर्ज लौटाने को कहा. महिला समूहों ने जब उत्तरप्रदेश निवासी शफीक खान को तलाश किया, तब तक वह फरार हो चुका था. ठगी के शिकार हुए महिला समूहों ने कलेक्टर और एसपी से मामले की लिखित शिकायत की है. महिला समूहों ने ठगी करने वाले शफीक खान को गिरफ्तार करने की मांग कर न्याय दिलाने की गुहार लगाई है. इधर एएसपी तारकेश्वर पटेल ने मामले की जांंच कर आगे की कार्रवाई की बात कही है.

Share This Post

Post Comment