सीआरपीएफ के हत्‍थे चढ़ा नक्सली करम सिंह मुंडा

सरायकेला खरसावां, झारखंड/नगर संवाददाताः सरायकेला जिले के खरसावां के रायडीह जंगल की पहड़ियों से नक्सली श्याम मुंडा उर्फ करम सिंह मुंडा को बुधवार को गिरफ्तार किया गया. वह कुख्यात नक्सली महाराज प्रमाणिक को हथियार पहुंचाने आया था. यह जानकारी सरायकेला-खरसावां के एसपी इंद्रजीत महथा ने प्रेस कांफ्रेस में दी. यह गिरफ्तारी सीआरपीएफ 196 बटालियन की बी कंपनी की ओर से चलाए गए सर्च अभियान के दौरान हुई. गिरफ्तार नक्सली के पास से पुलिस ने एक देसी कट्टा, दो बोर की दो कारतूस, नक्सली साहित्य लाल चिंगारी और कागज पर हस्तलिखित एक बैनर जब्त किया है. वह खूंटी जिला के अडकी कोरबा गांव का रहने वाला है. एसपी इंद्रजीत महथा ने बताया कि सूचना मिली थी कि रायजामा और आसपास के पहाड़ी वाले इलाकों में भाकपा माओवादी के सात-आठ नक्सली किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं. इसके बाद सीआरपीएफ के सहायक कमांडेंट अजय कुमार शर्मा और ई-कंपनी के सहायक कमांडेंट संदीप मित्रा की अगुवाई में 40 जवानों और खरसावां थाना के पुलिसकर्मियों की एक छापेमारी टीम बनाई गई. इस टीम ने रायजामा इलाके में सर्च अभियान चलाया. इस दौरान टीम को देखते ही एक संदिग्ध भागने लगा, लेकिन पुलिस ने उसे पकड़ लिया गया. एसपी ने बताया कि गिरफ्तार करम सिंह मुंडा ने स्वीकार किया है कि वह नक्सली कमांडर महाराज प्रमाणिक को सामान पहुंचाने जा रहा था. एसपी ने बताया कि करम, कुंदन पाहन दस्ता का सदस्य था, लेकिन 2004 से वह महाराज प्रमाणिक के लिए काम कर रहा था.

Share This Post

Post Comment