नई नवेली दुल्हन की खुली 10 में पोल

रेवाड़ी, हरियाणा/नगर संवाददाताः अपने बेटे की शादी के इंतजार में बैठे घरवालों के लिए वो पल सबसे ज्यादा हसीन था. बेटे के लिए दुल्हन को पाकर वो सभी बेहद खुश थे. उन्हें अपने हर सपने पूरे होते नजर आ रहे थे लेकिन शादी के मजह 10 दिनों के भीतर ही उनकी सारी खुशियां काफूर हो गई. अब इकलौते बेटे के साथ ही गायब है वो दुल्हन. मामला है हरियाणा के रेवाड़ी के रहने वाले विकास और उसकी नयी नवेली दुल्हन की. दरअसल विकास अपने मां-बाप का इकलौता बेटा है. लेकिन वो विशेष बच्चा (स्पेशल चाइल्ड) है. तीन बहनों में वो अकेला भाई है. घरवालों का दुलारा, सभी का लाडला है. लेकिन, उसकी इस हालत की वजह से कोई भी लड़की उससे शादी करने के लिए राजी नहीं हो रही थी. बेटे की हालत और लड़कियों के इंकार ने उसके घरवालों की चिंता बढ़ा दी. उन्हें लगने लगा कि अगर बेटे की शादी नहीं हुई तो उनका वंश आगे नहीं बढ़ेगा. इसी चक्कर में वो शादी कराने वाले ऐसे गिरोह के चक्कर में फंस गए जिसने उनका सबकुछ छीन लिया. दरअसल हुआ यूं कि एक रोज विकास के पिता जगदीश को एक शख्स मिला. उसके सामने जगदीश ने अपने बेटे की शादी करने की इच्छा जाहिर की. उस शख्स ने उनसे कहा कि दुल्हन तो मिल जाएगी लेकिन कुछ पैसे खर्च करने पड़ेंगे. बेटे के लिए दुल्हन की चाहत में विकास के पिता जगदीश वो सबकुछ करने को तैयार हो गए जो उस शख्स ने कहा. जगदीश के मुताबिक बेटे के शादी कराने के बदले उनसे 90 हजार रुपए लिए गए. फिर उन्हें दिल्ली के नजफगढ़ इलाके में एक लड़की दिखाई गई. आनन फानन में रिश्ता तय हो गया और फिर विकास की उस लड़की के साथ शादी कर दी गई. शादी की ये खुशियां महज 10 दिन में ही मातम में बदल गई. शादी के 10वें दिन जब पूरा परिवार नींद से जागा तो उन्होंने देखा कि उनका बेटा विकास और उसकी दुल्हन गायब हैं. बेटे और उसकी पत्नी के गयब होने के बाद घरवालों को सारा माजरा समझ में आ गया. उन्हें समझ में आ गया कि वो बेटे की शादी के चक्कर में वो शादी कराने वाले गिरोह का शिकार बन गए. बेटे और उसकी दुल्हन को गायब हुए तकरीबन दो महीने हो चुके हैं. पुलिस उनकी तलाश कर रही है. हर गुजरते दिन के साथ ही मां-बाप का दिल भी बैठा जा रहा है. पुलिस का कहना है कि कुछ लोगों से पूछताछ की गई है और दोनों की तलाश चल रही है. अब देखना यह है कि कबतक उनके बारे में पता चलता है.

Share This Post

Post Comment