ईद-उल अजहा को कश्मीरियों के ‘सर्वोच्च बलिदानों’ के प्रति समर्पित

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः भारत को एक बार फिर से भड़काते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने आज ईद-उल अजहा को कश्मीरियों के ‘सर्वोच्च बलिदानों’ के प्रति समर्पित कर दिया. शरीफ ने कहा कि जब तक कश्मीर का मुद्दा सुलझ नहीं जाता, तब तक पाकिस्तान ऐसा करना जारी रखेगा. शरीफ ने ईद-उल अजहा के मौके पर भेजे अपने संदेश में कहा, ‘हम कश्मीरियों के बलिदानों को नजर अंदाज नहीं कर सकते. उन्हें उनके बलिदानों का फल मिलेगा. हम इस ईद को कश्मीरी जनता के सर्वोच्च बलिदानों के प्रति समर्पित करते हैं और जब तक कश्मीर का मुद्दा (कश्मीरी जनता) की इच्छाओं के अनुरूप हल नहीं होता, तब तक हम ऐसा करना जारी रखेंगे.’ शरीफ ने अपने रायविंड स्थित आवास पर अपने परिवार के सदस्यों के साथ मस्जिद में ईद की नमाज अदा की. उन्होंने कहा, ‘कश्मीरी जनता ने भारत से आजादी पाने के अपने संघर्ष में अपनी तीसरी पीढ़ी का बलिदान दे दिया है.’ उन्होंने कहा, ‘वे आत्मनिर्णय के अपने अधिकार के लिए संघर्ष कर रहे हैं और भारतीय अत्याचारों का सामना कर रहे हैं. ताकत का इस्तेमाल करके उनकी आवाज को दबाया नहीं जा सकता.’ पाकिस्तानी राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने इस अवसर पर अपने संदेश में कहा कि पाकिस्तान को ‘आतंकवाद से प्रभावित हमारे कश्मीरी भाइयों और बहनों को’ याद रखना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘जरूरत के इस समय पर हमें कश्मीरी जनता का समर्थन करना चाहिए. अपना आत्मनिर्णय का अधिकार पाने के लिए वे अब तक के सबसे भीषण अत्याचारों का सामना कर रहे हैं.’ हुसैन के अनुसार ‘वह दिन दूर नहीं है जब कश्मीरी जनता को अपने सर्वोच्च संघर्ष का लाभ मिलेगा. जल्दी ही वे स्वतंत्र जमीन पर इन त्योहारों का जश्न मनाएंगे.’ इसी बीच, जमात-उद-दावा के प्रमुख और मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद ने गद्दाफी स्टेडियम में ईद की नमाज के लिए जुटे लोगों का नेतृत्व किया और ‘भारतीय बलों के खिलाफ लड़ रहे कश्मीरियों की सफलता’ की दुआ मांगी.

Share This Post

Post Comment