केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने काशी में डिजिटल इंडिया के तहत की योजनाओं की बारिश

फतेहपुर, उत्तर प्रदेश/अनिल कुमारः केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को काशी में डिजिटल इंडिया के तहत योजनाओं की बारिश की। उन्होंने काशी स्थित आराजी लाइन के छह गांवों जंसा बाजार, हरपुर, चंदापुर, भवानीपुर, दीनदासपुर व गंगापुर को वाई-फाई से कनेक्ट करने के साथ ही 1000 सीटों वाले कॉल सेंटर खोलने की घोषणा की। यहीं से पूरे प्रदेश में सीएससी यानी कॉमन सर्विस सेंटर के तहत वीएलई (विलेज लेवल एंटरप्रेंयोर) की भी शुरुआत की। उन्होंने कहा कि रैपिड एक्शन फोर्स की तर्ज पर सीएससी सेना डिजिटल इंडिया को उप्र में आधार देगी। साथ ही उन्होंने डॉ. आनंद कुमार की योजना सुपर-30 को भी इसी सेंटर से जोड़ा ताकि गांव में रहने वाले युवा भी आइआइटी इंट्रेंस की तैयारी कर सकें। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में सीएससी में कार्य करने वालों को 20 रुपये में महज एक-डेढ़ रुपये ही मिलते हैं। इस कमीशन को बढ़ाने के लिए मैं मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को पत्र लिखूंगा। केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बीएचयू स्वतंत्रता भवन में आयोजित वीएलई कांफ्रेंस में पूरे प्रदेश से आए हजारों युवाओं से पूछा कि क्या आपके पास फेसबुक, ट्विटर है, इस पर युवाओं ने हाथ उठाया और जोरदार आवाज में “हां” में जवाब दिया। इस पर रविशंकर ने कहा कि यही तो डिजिटल इंडिया है, जो पूरे देश के नौजवानों को एक नेटवर्क में जोड़ रहा है। केंद्र और राज्य मिलकर करें काम प्रसाद ने यहां आए सभी वीएलई से कहा कि आप 15 कदम चलो मैं आपके साथ 20 कदम चलूंगा। केंद्र व राज्य सरकार मिलकर काम करें तो सीएससी और मजबूत होगी। इस मौके पर उन्होंने 13 अन्य स्किल सर्विस को लांच किया। साथ ही सिमेंस व टीसीएस से अनुबंध भी हुए। यह सेवाएं हुईं लांच काशी के छह गांव वाई-फाई से जुड़े। पशुओं के स्वास्थ्य को टेलीकंसलटेशन। मलेरिया व डेंगू के इलाज के लिए किट।  सीएससी से ई-लीगल सेवा की शुरुआत। आनलाइन माध्यम से आइआइटी प्रवेश परीक्षा की तैयारी को सुपर-30 से अनुबंध। सीएससी के माध्यम से विडियोकान डी 2एच की बिक्री व स्किल सर्विस अनुबंध। स्किल डेवलपमेंट के 13 कोर्स 8- स्किल कोर्स के लिए टीसीएस से समझौता।

Share This Post

Post Comment