फिर अध्यापक के हवश का शिकार हुई एक 12 वर्षीय छात्रा

फतेहपुर, युपी/महेश कुमारः मवई गांव स्थित प्राथमिक विंध्यवासिनी सरस्वती जू0 हा0 के प्राचार्य राजा श्रीवास्तव निवासी भवानी का पुरवा ने हवश की हद उस वक्त पार कर दी जब एक 12 वर्षीय छात्रा निवासी सइमापुर के साथ दुष्कर्म कर डाला जो कि विद्यालय में कक्षा 08 की छात्रा है। आज सुबह 07 बजकर 30 मिनट की है ये घटना। विद्यालय जिसे विद्या का मंदिर कहा जाता है। उस परिवेश में एक शिक्षक की ये हरकते विद्यालयो के लिए कितनी शर्मनाक है। जहाँ एक ओर मासूम छात्रा जिसके भविष्य का पूरा दायित्व एक शिक्षक का होता है। वही उस छात्रा के भविष्य के साथ प्राचार्य ने ही कर डाला खिलवाड़। यदि रक्षक ही बन जायेगा भक्षक तो कैसे चलेगी शिक्षा व्यवस्था। हालाँकि दोषी शिक्षक के खिलाफ थाना हुसेनगंज में पास्को एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत कर लिया गया है। आज के इस दौर में अभिभावक भी अपने कार्यो में इतने व्यस्त हो जाते है कि यह भी नहीं सोचते कि अपने बच्चों को वह जिस जगह शिक्षा के लिए भेज रहे है वह परिवेश उनके बच्चों के लिए उचित है या नहीं, अभिभावक भी पूरी तरह से जांच पड़ताल करने के बाद ही यह निर्णय ले कि उनके बच्चे सही परिवेश में है कि नहीं।जहाँ up के C M अखिलेश सिंह यादव शिक्षा के इतने सारे वादे करते है। वही शिक्षा विभाग के आलाधिकारीयों की लापरवाही के चलते आज जनपद में परचून की दुकान की तरह खुल रहे है विद्यालय हर दूसरी गली हर मोहल्ले में मिल जायेंगे स्कूल। ऐसे में प्रश्न ये उठता है कि अभिभावक अपने बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए किस स्कूल का चयन करे यह बात अभिभावक को समझ में नहीं आती। आज जनपद में ऐसे प्राइवेट विद्यालयो की संख्या बढ़ गयी है जो बिना मान्यता के ही अपने विद्यालय को चला रहे है और प्रशासन को इस बारे में कुछ भी अवगत नहीं है। अगर विद्यालयो की हरकतों में कोई सुधार नहीं आया तो एन डी न्यूज़ इस तरह के विद्यालयो के प्रति सख्ततः सारा डाटा कलेक्ट करके जिलाधिकारी को उपलब्ध कराएगा। अतः शिक्षा विभाग खुद ही कोई सख्त कदम उठाये।

Share This Post

Post Comment