केवल तीन घण्टे की बारिश से खुल गई प्रशासन की पोल, 48 घण्टे बाद भी किसी ने नहीं ली पीडि़त मुहल्लों की सुध

फजिल्का, पंजाब/विनीत मुठनेजाः दोपहर तीन घण्टे तक हुई बारिश से प्रभावित मुहल्लों में आज तक कोई अधिकारी राहत या बचाव कार्य शुरू करने के लिए नहीं पहुंचा। प्रदेश कांग्रेस के उप-प्रधान व स्थानीय विधायक सुनील जाखड़ ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि प्रशासन को स्थिति की गम्भीरता से तुरन्त अवगत करवा दिया गया था लेकिन अभी तक यह तय नहीें हो पाया कि प्रभावित लोगों का दर्द बांटने कौन जाएगा। जिला प्रशासन ने विश्वास दिलाया था कि उप-मण्डल अधिकारी शीघ्र प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेंगे। लेकिन स्थिति यह है कि तहसील व अदालत परिसर स्वयं पानी से डूबे हुए हंै। प्रशासन द्वारा कोई कदम न उठाने के कारण बारिश का पानी वकीलों व अर्जी नवीसों के चैम्बरों में जा घुसा। एक दर्जन मुहल्लों के निवासी आज भी अपने घरों से जल भराव के कारण बाहर नहीं निकल पाए। सभी मुख्य बाजारों में निकासी न होने के कारण पानी दुकानों में जा पहुंचा जिससे भारी क्षति हुई है। उन्होंने प्रदेश सरकार से मांग की कि तुरन्त सर्वेक्षण करवाके प्रभावित लोगों को मुआवजे की व्यवस्था की जाए।  इस बीच आज बाजार नम्बर 11 व 12 के दुकानदारों ने नगर परिषद् प्रधान प्रमिल कलानी के विरूद्ध जोरदार रोष प्रदर्शन करते हुए नारे लगाए। उन्होंने कहा कि प्रधान द्वारा 6 माह पूर्व इन दोनों बाजारों से गंदे पानी की निकासी की समुचित व्यवस्था करने का आश्वासन किया गया था लेकिन कोई भी कार्यवाही न होने के कारण अब फिर उन्हें वर्षा केे बाद जलभराव से नुक्सान झेलना पड़ रहा है। प्रदर्शन कारियों ने बताया कि कलानी ने नगर परिषद़ से डिस्पोजल वक्र्स का निरीक्षण करने के लिए जो सरकारी जिप्सी मंगवाई थी वह घटिया रखरखाव के कारण रास्तेमें ही अटक गई हांलंकि नगर परिषद् ने ऐसी स्थिति से निपटने के लिए जेसीबी मशीन खरीद रखी है लेकिन उसका भी उपयोग नहीं हो पाया। उन्होंने कहा कि दूसरों पर मिथ्या दोषारोपन करने वाले प्रधान कलानी के झूठे दावों की इस बारिश ने हवा निकाल कर रख दी है.

Share This Post

Post Comment