विद्युतीकरण में लापरवाही

गोंडा, युपी/मयूर रैतानीः डीएम आशुतोष निरंजन ने जनपद में विद्युतीकरण में प्रगति न आने पर अधिशासी अभियन्ता विद्युत वितरण खण्ड-1 व अधिशासी अभियन्ता विद्युत वितरण खण्ड-2 को प्रतिकूल प्रविष्टि दे दी है। डा0 राम मनोहर लोहिया सग्रम योजना के तहत वर्ष 2015-16 में चयनित 37 ग्रामों का विद्युतीकरण किया जाना था परन्तु बार-बार निर्देश के बावजूद मात्र 18 ग्रामों का विद्युतीकरण हो पाया। इसी प्रकार राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना के तहत चयनित 1836 ग्रामों एवं मजरों के विद्युतीकरण के लक्ष्य के सापेक्ष मात्र 280 ग्रामों/मजरों का विद्युतीकरण हुआ एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 36225 विद्युत संयोजन लक्ष्य के सापेक्ष मात्र 1350 विद्युत संयोजन हुआ। ज्ञातव्य है कि मासिक समीक्षा बैठकों में डीएम द्वारा बार-बार निदेे्रश दिए गए थे कि विद्युतीकरण में युद्धस्तर पर तेजी लाते हुए लक्ष्य के अनुरूप ग्रामों में विद्युतीकरण का कार्य समय से कराया जाय परन्तु दोनों खण्डों के एक्सईएन द्वारा विद्यतुकीकरण में रूचि नहीं ली गई और घोर लापरवाही बरती गई। इससे नाराज डीएम ने एक्सईएन विद्युत खण्ड प्रथम राधे श्याम भाष्कर तथा एक्सईएन विद्युत खण्ड द्वितीय को उच्चाधिकारियों के आदेशों की अवहेलना मानते हुए प्रतिकूल प्रविष्टि देते हुए शासन को पत्र लिख दिया है।

Share This Post

Post Comment