यूपी विधानसभा में मार्शल कार्रवाई कराने से भड़का विपक्ष

फतेहपुर, युपी/अनिल कुमारः यूपी विधानसभा में मार्शल के उपयोग पर विपक्ष ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की और विफल सरकार पर जनसमस्याओं से कतराने का आरोप लगाया है।लखनऊ (राज्य् ब्यूरो)। उत्तर प्रदेश विधानसभा में विरोध जता रहे विपक्षी सदस्यों को मार्शल से बाहर निकालने को लोकतंत्र की हत्या करार देते हुए विपक्ष ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की। आरोप लगाया कि चौतरफा फेल हो चुकी सरकार जनसमस्याओं पर बहस करने से कतरा रही है। बसपा के दलनेता और नेता प्रतिपक्ष गयाचरन दिनकर ने आरोप लगाया कि सत्तारूढ़ पार्टी जानबूझकर लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या करने पर तुली है। सपा अपनी नाकामियों से मुंह छिपा रही है। जनप्रतिनिधि होने के नाते विधायक को सदन में आवाज उठाने का हक मिला है परन्तु उनको जबरन बाहर निकाला जाना दुर्भाग्यपूर्ण है। समाजवादी पार्टी की इस तानाशाही का जनता सही वक्त पर जवाब देगी। भाजपा के मुख्य सचेतक राधामोहन दास ने आरोप लगाया कि समाजवादी पार्टी लोकतंत्र का गला घोंट रही है। विधायक आम जनता की समस्याओं को सदन नहीं उठाएगा तो कहां पर उठाएगा? सरकार बहस से बच रही है इसीलिए मार्शल कार्रवाई करायी गयी। प्रदेश में जिस तरह से कानून व्यवस्था ध्वस्त है और महिलाओं से दुष्कर्म की घटनाएं बेतहाशा बढ़ी है। इस पर सदन में सरकार जवाब देना नहीं चाहती थी। इसलिए विधायकों को बलपूर्वक बाहर करने की कार्रवाई अमल में लायी गई।

Share This Post

Post Comment