युवती को बनाया हवस का शिकार, अब दो दिन से डॉक्टर कर रहे यह हरकत

रायपुर, छत्तीसगढ़/मालती दासः दुष्कर्म की शिकार युवती स्वास्थ्य अमले की लचर व्यवस्था की शिकार हो गई है। डॉक्टरों की संवेदनहीनता के कारण उसे मुलाहिजा के लिए बार-बार अस्पताल के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। विदित हो कि सिमगा थानांतर्गत ग्राम दुलदुला निवासी 26 वर्षीय युवती शनिवार की सुबह शौच के निकली थी तो वहीं के रहने वाले आरोपी गोपाल बंजारे ने उसका मुंह दबाकर अनाचार करके फरार हो गया। युवती ने आपबीती परिजनों को बताई, और तब परिजन उसे सिमगा थाने ले गए और आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस ने पीडि़ता को मुलाहिजा के लिए सिमगा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा, लेकिन वहां पदस्थ महिला चिकित्सक अहलूवलिया अवकाश पर थी। इसलिए मुलाहिजा नहीं हो सका। पीडि़ता को भाटापारा के सामुदायिक केंद्र रेफर कर दिया गया। महिला आरक्षक मालती वर्मा पीडि़ता को लेकर जब वहां पहुंची तो भाटापारा में पदस्थ महिला चिकित्सक सुषमा माहेश्वरी ने कहा कि अभी स्वीपर नहीं है करीब एक घंटे इंतजार करना होगा। इंतजार करने के बाद महिला सवीपर नहीं आई और सुषमा माहेश्वरी ने अपनी तबियत खराब होने की बात कहते हुए सिमगा वापस भेज दिया। इस प्रकार पीडि़ता और उसके परिजन दो दिन से भूखे प्यासे मुलाहिजा के लिए अस्पताल के चक्कर काट रहे हैं।

Share This Post

Post Comment