छत्तीसगढ़ में 2800 करोड़ रुपए से बनेंगी 27 नई सड़कें

बस्तर, छत्तीसगढ़/नगर संवाददाताः छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य में सड़क नेटवर्क के विकास और विस्तार के लिए 2800 करोड़ रुपए की 27 नई सड़कों के निर्माण प्रस्तावों को हरी झंडी दे दी. बेहतर यातायात सुविधा के लिए बनने वाली इन सड़कों की कुल लंबाई लगभग 924 किलोमीटर होगी. प्रदेश सरकार के लोक निर्माण विभाग के बजट से इनका निर्माण किया जाएगा. मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में सोमवार को मंत्रालय (महानदी भवन) में छत्तीसगढ़ राज्य सड़क विकास निगम की बैठक में विचार-विमर्श के बाद डॉ. सिंह ने इन प्रस्तावों का अनुमोदन कर दिया. डॉ. रमन सिंह ने बैठक में लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को इन सड़कों की टेंडर प्रक्रिया चालू अगस्त माह के अंत तक पूर्ण करने के निर्देश दिए. लोक निर्माण मंत्री राजेश मूणत, मुख्य सचिव विवेक ढांड, लोक निर्माण विभाग के प्रमुख सचिव अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन कुमार सिंह, उद्योग विभाग के सचिव सुबोध कुमार सिंह, वित्त विभाग के सचिव अमित अग्रवाल और अन्य वरिष्ठ अधिकारी बैठक में उपस्थित थे. मुख्यमंत्री ने बैठक में इन सड़कों के अलावा 601 करोड़ रुपए की लागत वाली रायगढ़-पूंजीपथरा-घरघोड़ा-पत्थलगांव सड़क निर्माण प्रस्ताव का भी अनुमोदन कर दिया. इस सड़क का निर्माण बीओटी पद्धति से किया जाएगा. डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में आज की बैठक में लोक निर्माण विभाग के बजट से जिन सड़कों की मंजूरी दी गई, उनमें बिलासपुर जिले के सकरी-गनियारी-कोटा 21.79 किमी सड़क, मुंगेली व बेमेतरा जिले की नांदघाट मुंगेली सड़क 35.56 किमी सड़क, दुर्ग जिले की सेलूद-जामगांव-रानीतराई-पाटन 42 किमी, दुर्ग एवं बेमेतरा जिले की दुर्ग-धमधा-बेमेतरा 33.14 किमी, जांजगीर जिले की जांजगीर-पामगढ़ 23.57 किमी. इसी तरह राजनांदगांव जिले की चौकी-चिल्हाटी-कोरचाटोला-महाराष्ट्र बार्डर तक 22.21 किमी एवं डोंगरगढ़-चिचोला 15.36 किमी, रायगढ़ एवं कोरबा जिले की धर्मजयगढ़-हाटी-उरगा सड़क 71 किमी, रायगढ़ जिले की पूंजीपथरा-लैलूंगा सड़क 53 किमी और बिलासपुर जिले की सीपत-बलोदा-उरगा सड़क 41 किमी सड़क भी शामिल हैं. इनके अलावा राजनांदगांव एवं बालोद जिले की लोहारा-रेंगाड़बरी-जुनापानी-चौकी सड़क 41.96 किमी, जांजगीर चंपा बिलासपुर एवं बलौदाबाजार जिले की पामगढ़-भिलौनी-सोनसारी-जोंधरा-लाहोद 21.79 किमी, कबीरधाम जिले की बिरकोना-पिपरिया-मरका-चुचरुंगपुर 35-56 किमी, राजनांदगांव जिले की छुरिया-कल्लू बंजारी सड़क महाराष्ट्र बार्डर तक 42 किमी, सरगुजा एवं सूरजपुर जिले की अंबिकापुर-केरता-जकगन्नाथपुर-प्रतापपुर सड़क 33.14 किमी, सूरजपुर जिले की बिश्रामपुर-दतिमा सड़क 23.57 किमी. इस तरह रायगढ़ जिले की घरघोडा-लैलूंगा सड़क 22.21 किमी, सूरजपुर जिले की तारा-प्रेमनगर-कृष्णापुर सड़क, सरगुजा एवं बलरामपुर जिले की रघुनाथपुर-लुंड्रा-धौरपुर-बरियान सड़क 71 किमी, रायगढ़ जिले की शिवरीनारायण-सारंगढ़ -बरमकेला-सोहेला सड़क 53 किमी, कोरबा जिले की पसन-पिपरिया-कोडघर दुल्लापुर मोड़ सड़क 41 किमी के निर्माण प्रस्ताव का भी अनुमोदन किया गया. राज्य सड़क विकास निगम की बैठक में मुख्यमंत्री ने सूरजपुर एवं कोरबा जिले की उदयपुर-करतला सड़क 41.96 किमी, कबीरधाम जिले की कारेसरा-खम्हरिया-सिल्हाटी सड़क 39.23 किमी, कवर्धा-रामपुर-खम्हरिया सड़क 28 किमी, धमतरी एवं रायपुर जिले की नवापारा-बड़ेकरेली-परसवानी-छिपली सड़क 25 किमी, राजनांदगांव जिले की जीई रोड से इंदामरा-सुकुलदैहान-ठेलकाडीह सड़क 20 किमी, चिखली-पदुमतरा सड़क 15.89 किमी एवं ढारा-ठेलकाडीह सड़क 19.44 किलोमीटर के निर्माण प्रस्ताव को भी अनुमोदित किया.

Share This Post

Post Comment