पड़ोसी महिला द्वारा चोरी के शक में बच्ची को जिंदा जलाया

रायपुर, छत्तीसगढ़/मयूर जैनः छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में चोरी के शक में 12 वर्षीय बालिका को एक महिला ने जलाकर मार डाला. पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस अधीक्षक संजीव शुक्ला ने बताया कि राजधानी के गोंदवारा क्षेत्र में रहने वाली 12 वर्षीय आरती को पड़ोस में रहने वाली महिला ने जलाकर मार डाला. इस मामले में पुलिस ने पड़ोसी महिला आशा जायसवाल को गिरफ्तार कर लिया है. शुक्ला ने बताया कि सोमवार शाम पुलिस को जानकारी मिली थी कि एक महिला ने पड़ोस में रहने वाली एक बालिका को जलाकर मारने की कोशिश की है. सूचना मिलने के बाद पुलिस दल रवाना किया गया और बालिका को अस्पताल पहुंचाया गया. वहीं आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया गया. लगभग 85 फीसदी जली बालिका ने मंगलवार को इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. पुलिस अधिकारी ने बताया कि पूछताछ के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि आशा जायसवाल के घर में पिछले कुछ दिनों से छोटे मोटे सामानों की चोरी हो रही थी. आशा को आसपास रहने वाले बच्चों पर शक था. सोमवार शाम आरती और अन्य बच्चे वहां कंचा खेल रहे थे. इस दौरान आरती का कंचा आशा जायसवाल के घर में चला गया. आरती जब कंचा मांगने के लिए आशा जायसवाल के घर पहुंची तब आशा बच्ची को एक कमरे में ले गई और उस पर मिट्टी तेल डालकर आग लगा दी. आशा ने कमरे को बाहर से बंद कर दिया. जब बच्ची चीखने लगी तब उसने इसकी जानकारी आरती की मां को दी कि बच्ची जल गई है. बाद में मां और अन्य लोगों बच्ची को बाहर निकाला और पुलिस को जानकारी दी. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बालिका ने अपने मृत्यु पूर्व दिए बयान में बताया है कि आशा जायसवाल ने ही उसे जलाकर मारने का प्रयास किया है. बच्ची की हत्या के आरोप में पुलिस ने आशा जायसवाल को गिरफ्तार कर लिया है.

Share This Post

Post Comment