दुकानदारों से की जा रही अवैध वसूली, विरोध पर गाली-धमकी

दुमका, झारखंड़/नगर संवाददाताः झारखंड के दुमका जिला के बासुकीनाथ में विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला लगता है. इस वर्ष जिला प्रशासन द्वारा 21 लाख रुपया में मेला की बंदोबस्ती की गयी है. प्रावधान के अनुसार दुकानदारों से 50 रुपये प्रति वर्ग फीट की दर से रूपया संवेदक को मिलेगा, लेकिन यहां नियम कानून को ताक पर रख कर 5 सौ से एक हजार रुपए प्रतिदिन के हिसाब से दुकानदार से वसूला जाता है. मेला संवेदक द्वारा दुकानदारों का शोषण किया जा रहा है. दुकानदार भी इसकी भरपाई के लिए समान की कीमत बढ़ाकर बेच रहे हैं. जेब खाली श्रद्धालुओं की हो रही है और बदनामी सरकार की हो रही है. दुकानदारों का कहना है कि विरोध करने वाले दुकानदार को अपशब्द कहे जाते हैं. दुकानदार राहुल कुमार और मीका देवी कहती हैं कि विरोध करने पर हमें धमकाया जाता है. मेला छोड़कर जाने के लिए कहा जाता है. इस बात पूछे जाने पर स्थानीय विधायक बादल पत्रलेख लिखित शिकायत पर कार्यवाई की बात कर रहे हैं. वहीं डीसी राहुल कुमार सिन्हा का कहना है कि निर्धारित दर से अधिक वसूली करने वाले संवेदक पर कार्यवाई की जाएगी.

Share This Post

Post Comment