स्टिंग में फंसे यादव की ऊर्जा निगम में फिर ताजपोशी

देहरादून, उत्तराखंड़/नगर संवाददाताः उत्तराखंड सरकार ने टांसफार्मर खरीद में कथित गड़बड़ी और स्टिंग ऑपरेशन को लेकर विवादों में रहे ऊर्जा निगम के प्रबंध निदेशक एसएस यादव को एक बार फिर तीन माह का सेवा विस्तार दे दिया. इसके अलावा, झारखंड में एक जलविद्युत परियोजना की मरम्मत में हुए घोटाले में कथित रूप से शामिल जल विद्युत निगम के प्रबंध निदेशक एसएन वर्मा को पावर टांसमिशन कारपोरेशन :पिटकुल: के प्रबंध निदेशक का भी अतिरिक्त प्रभार सौंप दिया गया. आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री हरीश रावत की मंजूरी मिलने के बाद कल इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए. यादव इस साल की शुरूआत में अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद छह माह के सेवा विस्तार पर चल रहे थे और उस कार्यकाल के आज पूरा होने से एक दिन पहले कल ही उन्हें नया सेवा विस्तार दे दिया गया. रोचक बात यह है कि यह कदम ऐसे समय में आया है जब यह माना जा रहा था कि स्वयं स्टिंग ऑपरेशन मे सीबीआइ जांच का सामना कर रहे और कथित रूप से घोटालों के विपक्ष के आरोपों का सामना कर रहे मुख्यमंत्री, यादव को सेवा विस्तार तथा वर्मा को पिटकुल का अतिरिक्त प्रभार नहीं देंगे.

Share This Post

Post Comment