दयाशंकर की पत्नी बोलीं-महिला सम्मान की लड़ाई लड़ने वाले बसपाइयों-कहां पेश करूं अपनी बेटी

दयाशंकर की पत्नी बोलीं-महिला सम्मान की लड़ाई लड़ने वाले बसपाइयों-कहां पेश करूं अपनी बेटी

वाराणसी, उत्तर प्रदेश/अरविंद तिवारीः भाजपा के पूर्व नेता दयाशंकर सिंह की मायावती पर विवादित टिप्पणी के विरोध में लखनऊ के हजरतगंज चौराहे पर हुए प्रदर्शन में बसपाइयों ने दयाशंकर के पूरे परिवार पर हमला बोला। पत्नी-बेटी पेश करो नारे लगाए। टीवी पर नारे सुनकर जहां दयाशंकर की स्कूल में पढ़ने वाली बेटी सदमे में चली गई। वहीं दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह ने मायावती और सतीश मिश्रा के इशारे पर लखनऊ में उपद्रव कराने का आरोप लगाते हुए करारा निशाना साधा है। स्वाति सिंह ने कहा है कि मायावती और सतीश चंद्र मिश्रा बताएं कि मैं कहां अपनी बेटी को पेश करूं। आखिर उनके इशारे पर ही तो बसपाइयों ने चौराहे पर नारे लगाए। दोनों नेता बताएं कि महिला सम्मान की रक्षा के लिए हमारी बेटी के साथ क्या सलूक करेंगे। हम तैयार हैं। स्वाति ने कहा कि पति ने जो कहा गलत कहा, मगर उनके कुसूर की सजा किसी बेटी पर अभद्र टिप्पणी कर देना क्या महिला सम्मान की लड़ाई है। एक महिला के सम्मान के लिए एक दूसरी महिला की इज्जत रौंद दी जानी चाहिए क्या। अगर यह महिला सम्मान की लड़ाई है तो लानत है ऐसी लड़ाई पर। मायावती खुद एक महिला हैं। पति ने उन पर गलत शब्दों का इस्तेमाल किया तो कानून उनके खिलाफ कार्रवाई करेगा। उनकी बेटी को लेकर जो अभद्र टिप्पणियों हजरतगंज चौराहे पर की गईं, उसका जवाब कौन देगा। स्वाति ने कहा कि गलत शब्द तो उनके पति ने बोला था न कि मेरी बेटी ने। तो फिर चौराहे पर बड़े नेताओं के इशारे पर बसपाई नारे लगा रहे-दयाशंकर की बेटी को पेश करो…यह क्या है। महिला सम्मान की लड़ाई लड़ने वालीं मायावती, सतीश मिश्रा और बाकी नेता बताएं कि अपनी बेटी को कहां पेश करूं। क्या सलूक करना चाहते हैं। भला सोचिए, मायावती को जिस टिप्पणी पर तीखा एतराज है। जिसे महिला विरोधी बताती हैं और संसद में उसी टिप्पणी को कह रहीं हैं कि दयाशंकर अपनी बहू-बेटियों के लिए बोला होगा। तो यह है मायावती की नजर में महिला सम्मान। स्वाति सिंह ने कहा कि लखनऊ में हजरतगंज चौराहे पर बेटी को लेकर लगाए गए अभद्र नारे से उनका मानसिक उत्पीड़न हुआ है। यह पूरा प्रदर्शन मायावती और सतीश मिश्रा के इशारे पर बसपाईयों ने किया है। पति के खिलाफ मायावती पर गलत कमेंट कहने पर जो कानूनी कार्रवाई होगी वह उन्हें मंजूर है। मगर हजरतगंज चौराहे पर बेटी को लेकर जो अपशब्द बोले गए हैं, उस पर बसपा के नेता कानूनी कार्रवाई झेलने के लिए तैयार रहें। हम जल्द ही अदालत की शरण लेंगे। दयाशंकर की पत्नी स्वाति सिंह ने कहा कि लखनऊ में बसपाईयों ने जिस तरह से शर्मनाक नारे लगाए। उससे स्कूल में पढ़ने वाली बेटी सदमे में है। वह दवा खाकर बार-बार सो रही है। कह रही है कि वह अब स्कूल नहीं जाएगी। आखिर बसपाई यह कैसी महिला हितों की लड़ाई लड़ रहे।

Share This Post

Post Comment