युवक युवती के मिले अधजले शव

जालोर, राजस्थान/छेनारामः रेवदर और अनादरा थाना क्षेत्र में बुधवार को युवक युवती के मिले अधजले शवों के ऑनर किलिंग से जुड़े होने की आशंका जताई जा रही है। पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लिया है और इस आशंका पर भी काम कर रही है कि इनकी हत्या में इनके किसी निकटस्थ जानकार का हाथ भी हो सकता है। इधर, युवक व युवती की स्पष्ट पहचान तो नहीं हो पाई है, लेकिन पुलिस ने ग्रामीणों की सूचना के आधार पर इसकी पहचान बग निवासी कालूराम कलबी के रूप में की है। वहीं मृतका की शिनाख्त के लिए पुलिस दल कर्नाटक भेजा है। प्राथमिक जानकारी के अनुसार युवक कर्नाटक में काम करता था, वहीं पर उसने अपने समुदाय से बाहर की युवती से शादी कर ली थी। इस विवाह को पारीवारिक स्वीकृति नहीं थी। आशंका यह जताई जा रही है कि इसी से नाराज होकर युवक के निकटस्थ लोगों ने उसे व युवती को बुलाकर उनकी हत्या कर दी। पुलिस के अनुसार मृतका गर्भवती थी। रेवदर के ईदरला में मंगलवार दोपहर को युवती का तथा अनादरा थाना क्षेत्र के सनपुर में युवक का अधजली हालत में मिले थे। इनके चेहरे बुरी तरह से कुचले हुए और जलाए हुए थे। पुलिस को आशंका है कि इनकी हत्या के बाद पहचान छिपाने के लिए ऐसा किया गया होगा। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रेरणा शेखावत ने बताया कि युवक की पहचान पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से कर ली है। पुलिस इसे बग निवासी कालूराम कलबी बता रही है। लेकिन उसके पिता इसे अपना बेटा नहीं मान रहे हैं। रिश्ते की इस डोर को जोडऩे के लिए पुलिस अब युवक तथा उसके पिता का डीएनए टेस्ट करवाएगी। वहीं युवक व युवती के एक ही केस का पहलू होने की शंका दूर करने के लिए युवती के गर्भ में पल रहे बच्चे के टीशू के डीएनए की जांच मृतक युवक के डीएनए से करवाएगी। पुलिस के लिए इस दोहरे ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझाना भी एक बड़ी चुनौती बन गई है। एएसपी ने बताया कि महिला की शिनाख्तगी के लिए पुलिस का एक दल कर्नाटक भेजा गया है। महिला के परिवार का स्पष्ट पता नहीं है। युवक के कर्नाटक के बेलगाम में काम किए जाने के कारण युवती के भी बेलगाम के खानपुर क्षेत्र की होने की संभावना पर दल वहां गया है। इस हत्याकांड की जांच के लिए आवश्यक सुबूत जुटाने के बाद बुधवार को इन दोनों युवक-युवती के अंतिम संस्कार में भी बहुत समस्या आई। ग्रामीणों के बताए अनुसार पुलिस ने बग गांव में कानाराम कलबी से युवक के संबंध होने की पूछताछ की। शुरू में तो वह युवक के उसके संबंध के लिए मना करता रहा, लेकिन बाद में उसने युवक को उसका पुत्र तो माना। लेकिन उसके दूसरा धर्म स्वीकार कर लेने से उससे किसी तरह का संबंध होने से मना कर दिया। इस पर पुलिस की मौजूदगी में पंचायत के सहयोग से उसका दाह संस्कार किया गया। वहीं युवती के अंतिम संस्कार के लिए भी बुधवार को रेवदर में उसके समुदाय के लोगों से बात हुई, लेकिन उसके धर्म को लेकर संशय के कारण उन्होंने भी युवती के शव का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया। बाद में पुलिस ने पंचायत के सहयोग से उनके धर्म की रीति के अनुसार सुपुर्द-ए-खाक कर दिया।

Share This Post

Post Comment