डाॅक्टर सहित 3 कर्मचारी दोषी

पठानकोट, पंजाब/राजेंद्रः जिला अस्पताल में गर्भवती रिदमा पत्नी किशोर कुमार निवासी देसा सिंह को गलत ग्रुप का खून चढ़ाने के आरोपों की जांच रिपोर्ट में महिला रोग विशेषज्ञ सहित 3 कर्मचारियों को दोषी करार दिया गया है। इनमें से 2 कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है जबकि डाक्टर के विरूद्ध कार्यवाही के लिए सरकार को सिफारिश की गई है। यह जानकारी आज देर सायं जिला अस्पताल के चिकित्सक अधीक्षक डाॅक्टर राजेंद्र कुमार चोपड़ा ने पत्रकारों को दी। उन्होंने कहा कि स्टाफनर्स गुरबक्श कौर और लैबोरेटरी टैक्नीशियन सरवन कुमार को तुरंत प्रभाव से निलंबित करना अथवा कार्यवाही करना सीएमओ के अधिकार क्षेत्र से बाहर था। अतः उसके विरूद्ध कार्यवाही करने के लिए निदेशक चिकित्सा विभाग को लिखा गया है। उल्लेखनीय है कि 2 जून को रिदमा को रक्त चढ़ाने के उपरांत मृत लड़का पैदा हुआ था जिसके बाद रिदमा की हालत भी बिगड़ गई थी जिसके उपरांत उसे जम्मू रैफर कर दिया गया था जहां उसकी मौत हो गई थी। आरोप यह था कि गर्भवती को गलत ग्रुप का खून चढ़ा दिया गया था।

Share This Post

Post Comment