राहुल गांधी को SC ने लगाई फटकार, कहा- माफी मांगो या फिर मुकदमा झेलो

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः महात्मा गांधी की हत्या में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) का हाथ बताए जाने पर राहुल गांधी बुरी तरह फंसते नजर आ रहे हैं. सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए राहुल से कहा कि माफी मांगो या फिर मुकदमा झेलने के लिए तैयार रहो. कोर्ट ने कहा ‘बिना किसी सबूत के किसी संगठन को आप बदनाम नहीं कर सकते हैं. आपको बताना होगा कि आपने जो आरोप लगाया है उसका क्या सबूत है और वह किस तरह से जनहित में है. आपको इन सवालों के जवाब देने होंगे’. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनाव प्रचार के दौरान एक भाषण में कहा था कि महात्मा गांधी की हत्या के पीछे आरएसएस का हाथ था. उनके इस बयान पर कई जगह याचिकाएं देश भर में दाखिल की गई थीं.

बिना किसी सबूत के किसी संगठन को आप बदनाम नहीं कर सकते हैं. आपको बताना होगा कि आपने जो आरोप लगाया है उसका क्या सबूत है और वह किस तरह से जनहित में है. आपको इन सवालों के जवाब देने होंगे’.

— सुप्रीम कोर्ट

ऐसा ही मुकदमा महाराष्ट्र के भिवंडी कोर्ट में आरएसएस कार्यकर्ता राजेश कुंटे ने भी दर्ज कराया और उनके खिलाफ आपराधिक मामला चलाने की मांग की. इन याचिकाओं को खारिज कराने के लिए राहुल की ओर से सुप्रीम कोर्ट में गुहार लगाई गई. जिस पर जस्टिस दीपक मिश्रा और प्रफुल्ल सी पंत की पीठ ने इससे पहले हुई मामले की सुनवाई में सुझाव दिया था कि  मुद्दे को शालीनता से सुलझाया जा सकता है अगर राहुल गांधी अपने बयान पर खेद जता दें. उस पर राहुल की ओर से पेश वरिष्ठ वकील और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने कहा माफी मांगने के बजाए वह बहस करना पसंद करेंगे. वहीं आज सुनवाई करते हुए आज कोर्ट ने कहा साफ कह दिया कि माफी या मुकदमा झेलने के सिवाए कोई और रास्ता नहीं है और अगली सुनवाई 27 जुलाई के लिए तय कर दी. इस भिवंडी कोर्ट में दाखिल याचिका को खारिज कराने की मांग को मुंबई हाईकोर्ट पहले ही खारिज कर चुका है. सुप्रीम कोर्ट ने फिलहाल अवमानना का मुकदमा चलाने पर रोक लगाई हुई है.

 

Share This Post

Post Comment