10 साल पुरानी डीजल कारों पर रोक

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) ने सोमवार को दिल्ली में डीजल से चलने वाले दस साल से पुराने वाहनों पर तुरंत प्रभाव से प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया। एनजीटी ने आरटीओ से ऐसे वाहनों का रजिस्ट्रेशन निरस्त करने को कहा है। एनजीटी ने कहा कि रजिस्ट्रेशन को रद्द करने के बाद इस संबंध में सार्वजनिक नोटिस जारी किया जाए। साथ ही ऐसे वाहनों की सूची दिल्ली ट्रैफिक पुलिस को सौंपी जाए। पुलिस तुरंत अधिकरण के निर्देशों के मुताबिक समुचित कदम उठाएगी। हालांकि ट्रकों को फिलहाल कुछ समय के लिए इस आदेश से राहत दी गई है। जस्टिस स्वतंतर कुमार की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि पुराने डीजल वाहन लगातार आबोहवा बिगाड़ रहे हैं। ऐसे में इन पर रोक लगाना जरूरी है। एनजीटी में ट्रैफिक पुलिस ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि इस तरह के वाहनों को रोकने के लिए कई बार चालान किए । उल्लंघन करने वालों पर जुर्माना लगाया, लेकिन इसका कोई परिणाम नहीं निकला। केंद्र सरकार ने विरोध किया : भारी उद्योग मंत्रालय की ओर से पेश हुए एडिशनल साॠलिसिटर जनरल पिंकी आनंद और वकील बालेंदु शेखर ने कहा कि अधिकरण को प्रतिबंध लगाने जैसा कड़ा आदेश जारी नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आॠटो उद्योग एफडीआई में 8% से ज्यादा योगदान करता है। यह भारत में रोजगार सृजन का बड़ा स्रोत है।

Share This Post

Post Comment