प्रत्येक जिले में खुलेगा एक विशेष खेल का उत्कृष्ठ केंद्र

फरीदाबाद, हरियाणा/नगर संवाददाताः प्रदेश में खेल को बढ़ावा देने के लिए स्वर्ण जयंती कार्यक्रम के तहत प्रत्येक जिले में एक विशेष खेल का उत्कृष्ठ केंद्र तैयार किया जाएगा। इसके फरीदाबाद, पलवल सहित प्रत्येक के सभी जिला खेल अधिकारी से प्रस्ताव मांगा गया है। इसे 15 दिनों के अंदर विभाग के उच्च अधिकारियों के पास भेजने का निर्देश दिया गया है। सबकुछ ठीक रहा तो हरियाणा दिवस यानी एक नवंबर से इसे शुरू कर दिया जाएगा। खिलाड़ियों की रूचि को देखते हुए प्रदेश सरकार ने प्रत्येक जिले में एक खेल के लिए उत्कृष्ठ केंद्र शुरू करने का निर्णय लिया है। जिसे आधुनिक उपकरणों से लैस किया जाएगा। इसके लिए खेल निदेशालय से जिले के बेहतरीन खिलाड़ी और खेलों की सूची मांगी गई है। इसके आधार पर आगे की रणनीति तैयार की जाएगी। खेल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि जिले से तीरंदाजी, शूटिंग और बैडमिंटन को भेजा जा सकता है। इनमें से एक खेल को चुना जाएगा। मुख्यालय से हरी झंडी मिलने के बाद यहां उस खेल का केंद्र स्थापित कर दिया जाएगा। विभाग का तर्क है कि यहां कई ऐसे खिलाड़ी हैं जिनका तीरंदाजी के प्रति जुनून है। वे राष्ट्रीय खेलों में अपनी पहचान बना चुके हैं। यहां तीरंदाजी के कोच भी मौजूद हैं। उन्हें सिर्फ निखारने की जरूरत है। अभी तक यह अभ्यास करने वाले खिलाड़ी अपने पैसे से तीर कमान और टारगेट का इंतजाम करते हैं। अगर सरकार की ओर से सहयोग मिल जाता है तो यह खिलाड़ी और बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं। सेक्टर 12 खेल परिसर के अलावा यहां के खिलाड़ी डीएवी शताब्दी कॉलेज और कई अन्य जगहों पर भी प्रैक्टिस करते हंै। इसके अलावा इसमें शूटिंग को रखा गया है। जिले में अंतराष्ट्रीय शूटर अनीसा सैय्यद, अन्नूराज, स्वेता चौधरी जैसे कई खिलाड़ी हैं। अनीसा को खेल विभाग की ओर से नियुक्त भी किया गया है। इससे यहां बेहतर खिलाड़ी तैयार करने में सहूलियत होगी। वहीं, पलवल में हैडबॉल, एथलेटिक और हॉकी में से एक खेल को दिया जा सकता है। बताया जा रहा है कि इसका खाका तैयार कर विभाग के उच्च अधिकारियों को भेज दिया गया है। सबकुछ ठीक रहा तो नवंबर में इसे शुरू कर दिया जाएगा। जिला खेल अधिकारी सुनील भारद्वाज: इस संबंध में मुझे अभी कोई विशेष जानकारी नहीं मिली है। पिछले दिनों प्रदेश के सभी जिलों से खेल मैपिंग कराया गया था। इस दौरान बेहतरीन खिलाड़ियों की सूची और रूझान मांगा गया था। पलवल के जिला खेल अधिकारी अशोक सैनी : इसके लिए खेलों की सूची बनाकर भेज दी गई है। किस खेल को चुना जाएगा यह कहना मुश्किल है। लेकिन इनमें से एक खेल को आवश्य चुना जाएगा।

Share This Post

Post Comment