पढ़ाई के साथ नौकरी की तो रद्द होगा प्रवेश

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः डॉ एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय(एकेटीयू) की ओर से छात्रों को इस बार प्रवेश के दौरान नए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। विश्वविद्यालय ने अपने से संबद्ध कॉलेजों को अधीसूचना जारी की है कि व्यवसायिक कोर्स के दौरान किसी छात्र के नौकरी करता पाए जाने पर उसका दाखिला तुरंत रद्द कर दिया जाए। विश्वविद्यालय प्रशासन ने बताया कि इस बार प्रवेश के दौरान इस नियम के बारे में छात्रों को स्पष्ट रूप से बता दिया जाएगा। इसे लेकर कॉलेजों को भी निर्देश दिए गए हैं। इसी के साथ विश्वविद्यालय से संबद्ध एमटेक, एमफार्म और एमआर्क कोर्स चलाने वाले कॉलेजों में दाखिले के नाम पर मनमानी नहीं चलेगी। एकेटीयू के निर्देशानुसार कॉलेज इन पाठ्यक्रमों में ऐसे अभ्यर्थियों को प्रवेश नहीं दे सकेंगे, जो किसी संस्थान-प्रतिष्ठान में कार्य कर रहे हों। अगर ऐसे अभ्यर्थी संस्था में प्रवेश के रूप में पाए जाएंगे तो उनका इनरॉलमेंट निरस्त कर दिया जाएगा। वहीं संबंधित संस्था के विरुद्ध भी अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। मौजूदा समय में प्रदेश में विश्वविद्यालय से संबद्ध 630 से ज्यादा इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेज संचालित हैं। बीते सत्रों में कॉलेजों की ओर से सीटें भरने के चक्कर में नौकरी कर रहे अभ्यर्थियों को दाखिले दे देते हैं। इसी के साथ इस सत्र से कॉलेजों में एमटेक, एमफार्म और एमआर्क कोर्स रेगुलर मोड पर चलाने के निर्देश जारी किए गए हैं। इस बार काउंसलिंग के बाद विश्वविद्यालय की ओर से ऐसे छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा, जिन्होंने यूपीएसईई या गेट की प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण की हो।

Share This Post

Post Comment