कार्बेट टाइगर रिजर्व में सांप के काटने से बाघ की मौत

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः कार्बेट टाइगर रिजर्व (सीटीआर) में सांप के काटने से एक बाघ की मौत हो गयी. सीटीआर के निदेशक डा समीर सिन्हा ने बताया कि 10-12 वर्ष के बाघ का शव रिजर्व की झिरना रेंज की फान्टो पश्चिमी बीट कंपार्टमेंट में सुबह नियमित गश्त के दौरान मिला. उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण के दिशा निर्देशों के अनुरूप कराए गए बाघ के शव के विस्तृत परीक्षण और पोस्टमार्टम से पता चला है कि उसकी मृत्यु सांप के काटने से हुई है. बाघ के चेहरे पर सांप के काटने के निशान हैं. वहीं दूसरी तरफ कार्बेट टाइगर रिजर्व में भले ही बाघों की संख्या बढ़ गई हो और यह बाघों के मामले में देश-विदेश में अव्वल हो गया हो, लेकिन यहां की सुरक्षा व्यवस्था अभी तक तो रामभरोसे ही चल रही है. यहां फ्रंट लाइन स्टाफ की भारी कमी बनी हुई है. यहां वन रक्षकों के 256 पदों के मुकाबले 166 पद ही भरे हुए हैं, जिसमें 99 वन रक्षकों की भारी कमी बनी हुई है. ऐसे में इन बाघों की सुरक्षा कैसे हो यह सवाल वन्यजीव प्रेमियों को सता रहा है.

Share This Post

Post Comment