आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने मनाया काला दिवस, सरकार के खिलाफ की जमकर नारेबाजी

पौड़ी गढ़वाल, उत्तराखंड/नगर संवाददाताः वेतनमान की मांग को लेकर पौड़ी के बस अड्डे के पास आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा काटा. जिले भर से आयी कार्यकर्ताओं ने केन्द्र सरकार और प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर प्रदर्शन की. आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का कहना है कि कई सालों से वेतनमान को लेकर सरकार द्वारा कोरा आश्वासन ही दिया जा रहा है, जिस पर अब तक कोई कार्रवायी नहीं हो सकी है. उन्होने कहा कि कम वेतन होने की वजह से उनकी आर्थिक स्थिति भी डगमगाने लगी है. जिस कारण उन्हें कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है. साथ ही उन्होने कहा कि 11 जुलाई का दिन काला दिवस के रूप में मनाया गया है, क्योंकि केन्द्रीय मंत्री मेनका गांधी के तरफ से आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के लिए गलत बयानबाजी की जा रही है. उनका कहना है कि दोनों ही सरकारों को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जल्द ही उनकी मांगे नही मानी गयी तो वे देहरादून से दिल्ली तक आन्दोलन करने को बाध्य होंगे. रामलीला मैदान से धारा रोड और फिर बस अड्डे के पास जिले भर से आई आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने केन्द्र और प्रदेश सरकार के खिलाफ रैली निकाल कर अपना आक्रोश जताया हैं. आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने बताया कि उनसे कम पैसों में ज्यादा काम लिया जाता हैं जिसका पूरे प्रदेश में अब सभी कार्यकर्ताओं विरोध कर रही हैं. उन्होने कहा कि कई बार आंदोलन करने के बाद सरकार की तरफ से उन्हे अश्वासन के आलावा कुछ नहीं दिया जाता है और सरकार का अश्वासन भी कोरा रह जाता हैं. आगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने सड़कों पर प्रदेश और केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की. साथ ही उन्होने सहा कि अगर सरकार का इसी तरह रवैया रहा तो वो हर दिन काला दिवस मनाने को मजबूर होगी.

Share This Post

Post Comment