एमपी में दलितों पर टूटा दबंगों का कहर, महिला के कपड़े फाड़ उसके पति को बुरी तरह पीटा

मुरैना, मध्यप्रदेश/नगर संवाददाताः मध्यप्रदेश के मुरैना में आजादी के 68 साल बीतने के बाद भी दलितों पर दबंगों का कहर बदस्तूर जारी है. इस बार जिले के एक गांव में दलित दंपति को इसलिए पीटा गया; क्योंकि वह दबंगों के समर्थक नेता की रैली में न जाकर अपने पसंदीदा मंत्री की रैली में चले गए थे. जानकारी के मुताबिक, जिला मुख्यालय से महज 12 किमी दूर बसे हासई गांव के रहने वाले सोनी सपेरा और उसकी पत्नी रूपमती हाल ही में प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री बने जयभान सिंह पवैया की रैली में ग्वालियर आए थे. यह बात गांव के दबंगों बंटी गुर्जर और पटवारी गुर्जर को अखर गई. दरअसल, एक दिन पहले ही दलित परिवार से दबंगों ने अपने समर्थक मंत्री की रैली में जाने के लिए कहा था, लेकिन सोनी सपेरा उसमें नहीं गया था. इससे गुस्साए बंटी और पटवारी ने अपने साथियों के साथ मिलकर सोनी सपेरा को बुरी तरह पीटा और उसकी पत्नी के कपड़े फाड़ डाले. दबंगों की मारपीट के बाद दलित परिवार में इतना खौफ है कि, दबंगों के नेता के बारे में वे कुछ भी कहने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं. हालांकि, इतना साफ है कि गुर्जर सामाज के हाल ही में सिर्फ एक ही नेता मंत्री बने हैं और उनकी भी रैली 7 जुलाई को ही निकाली गई थी. इसी रैली में न जाने के कारण यह विवाद हुआ है. सीएसपी सुरेंद्र तोमर ने बताया कि, पुलिस ने महिला और उसके पति का मेडिकल करवा कर मामले को हरिजन थाने में ट्रांसफर कर दिया है. इस मामले की जांच अब हरिजन थाना डीएसपी करेंगे.

Share This Post

Post Comment