लाखों की लागत से लगे सौर ऊर्जा प्लान्ट हुए नकार

बांसवाड़ा, राजस्थान/नगर संवाददाताः छोटी सरवन पंचायत समिति के दनाक्षरी ग्राम पंचायत में वर्ष 2002 में लाखों की लागत से सौर ऊर्जा प्लान्ट लगाये गये। जिससे गांव में बिजली की सप्लाई होती थी। इस सौर ऊर्जा से दनाक्षरी, सालिया, पातीनगरा गांव में विद्युत सप्लाई होती थी लेकिन जबसे सौर ऊर्जा चलित लाईटे बंद है तब से लोगों को भारी परेशानियां उठानी पड़ रही है। इधर विद्युत निगम है कि कनेक्शन करने को तैयार नहीं। पहले गांव में 863 घर थे आज इनकी संख्या हजारों में पहुंच गयी है इसके बावजूद लोगों को विद्युत कनेक्शन नहीं मिल पाया है। सरपंच रामचंद्र ने बताया कि हालात ये हो गये है कि पूरे गांव अंधेरे में नजर आते है। उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायत, पंचायत समिति की साधारण सभा से लेकर जिला परिषद् तक में ये मुद्दा उठाया गया लेकिन कोई समाधान नहीं मिल पाया। निगम अधिकारी भी इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रहे है। चार माह पूर्व सालिया में रात्रि चौपाल हुई थी। उस दौरान जिला कलक्टर प्रकाश राजपुरोहित ने बिजली के अभाव में चिमनी की रोशनी में कार्यवाही संपादित की थी। इन हालातों के चलते विद्यार्थियों को आज भी चिमनी की रोशनी में अपना अध्ययन करने को विवश होना पड़ रहा है। हालांकि परिणाम देखे तो सुखद् ही माना जा सकता है। विद्युत के अभाव में भी यहां 60 फीसदी परीक्षा परिणाम रहा। गांव की आबादी दस हजार से अधिक है लेकिन एक भी विद्युत कनेक्षन नहीं होना व्यवस्थाओं पर सवालिया निशान लगाता है।

Share This Post

Post Comment