किडनैप हुए मासूम का मिला शव, गुस्साए लोगों ने आरोपियों के घरो में लगाई आग

मेरठ, उत्तर प्रदेश/नगर संवाददाताः मेरठ के थाना लिसाड़ी गेट इलाके के इस्लामाबाद कालोनी मे पांच दिन पूर्व किडनैप हुए कपड़ा व्यापारी के मासूम बेटे के शव को पुलिस ने हाथरस से बरामद किया. व्यापारी के बेटे की हत्या की सूचना मिलने के बाद गुस्साए लोगों ने आरोपियों के चार घरो में आग लगा दी. आग को बुझाने के प्रयास में पुलिसकर्मी भी झुलस गये. आरोपियों के घरों में लगी भीषण आग को काबू में करने के लिए एक दर्जन फायर टेंडरों को घंटो कड़ी मशक्कत करनी पड़ी. मासूम बच्चे के अपहरण करने वाले आरोपियों को फिलहाल पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इस बीच गमजदा परिजनों का कहना है कि पांच दिन पहले कपड़ा व्यापारी नदीम नमाज अदा करने के लिए मस्जिद गए थे. उसके बाद देर रात बेटा जीशान अचानक गायब हो गया. परेशान परिजनों  ने अपहरण की आशंका जाहिर करते हुए थाने मे मुकदमा पंजीकृत करा दिया. अगले दिन सुबह होते ही अंजान नंबर से आई फोन कॉल ने नदीम से जिशान के बदले दो घंटे मे पांच लाख रुपये देने की फिरौती की मांग की.  जिसके बाद नदीम के परिजनों ने पुलिस को मामले से अवगत कराया. उसके बाद पुलिस टीम ने सर्विलांस के माध्यम से आरोपियों को खोज निकाला. आरोपी कोई ओर नही बल्कि व्यापारी नदीम के पड़ोसी मोनू, नदीम, नाजिम ओर वसीम निकले. पुलिसिया पूछताछ मे अपहरणकर्ता ने नदीम के बेटे जिशान की अपहरण के बाद हत्या की घटना को स्वीकार करते हुए जीशान के शव को हाथरस से बरामद कराया. फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है. जब परिवार के लोग को घटना की जानकारी पुलिस ने दी कि बच्चो का शव हाथऱस में है तो परिवार के लोगो का रो-रो कर बुरा हाल हो गया और तमाम रिश्तेदार और पड़ोस के लोगो इकट्ठा होकर आरोपियों के घरों पर धावा बोल दिया. गुस्साए लोगों ने उनके घरों में तेल छिड़ककर आग लगा दी. इस पूरे घटना के दौरान पुलिस भी मौके पर मौजूद थी लेकिन भीड़ के उसकी एक न चली.

Share This Post

Post Comment