14 साल की नाबालिग को गांव के युवक ने बनाया हवस का शिकार

डूंगरपुर, राजस्थान/नगर संवाददाताः डूंगरपुर जिले के दोवड़ा थानांतर्गत एक 14 साल की नाबालिग के साथ दुष्कर्म कर मां बनाने का मामला सामने आया है. समाज, पंच व पुलिस से न्याय नहीं मिलने के बाद सोमवार को पीड़िता अपने 1 माह के बच्चे के साथ न्याय के लिए कलेक्ट्रेट पहुंची और एसपी का दरवाजा खटखटाते हुए न्याय की मांग की. मामले के अनुसार सामोर गांव निवासी आरोपी गोपाल मीणा ने गांव की ही 14 साल की नाबालिग को पिछले वर्ष राखी पर अपनी हवस का शिकार बनाया और किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी, जिस पर पीड़िता ने डर के चलते अपने साथ हुई ज्यादती के बारे में किसी को नहीं बताया. आरोपी ने उसका फायदा उठाते हुए बार-बार पीड़िता के साथ ज्यादती की, जिससे वह गर्भवती हो गई. मामले का पता चला चलने पर पीड़िता के परिजनों ने समाज के पंचों के समक्ष गुहार लगाई, लेकिन पंचों ने कोई कार्रवाई न करते हुए दोनों ही परिवारों को गांव से बेदखल कर दिया. इधर, 5 जून को पीड़िता के मां बनने पर पीड़िता की मां ने 15 जून को दोवड़ा थाने में मामले की रिपोर्ट देकर कार्रवाई की मांग की, लेकिन 15 दिन बीतने के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. कहीं से भी न्याय नहीं मिलने पर पीड़िता अपने एक महीने के बच्चे के साथ कलेक्ट्रेट पहुंची, जहां कलेक्ट्रेट में वकील अब्दुल सलाम गौरी ने पीड़िता की कहानी सुनकर उसे लेकर एसपी डूंगरपुर के पास पहुंचे. उसके बाद पीड़िता ने एसपी को आपबीती सुनाते हुए परिवाद सौंपा. एसपी ने दोवड़ा थानाधिकारी को मामले की जांच करने के लिए निर्देशित किया है.

Share This Post

Post Comment