मौसमी बीमारियों पर नियंत्रण रखने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने बनाया एक्शन प्लान

कोटा, राजस्थान/नगर संवाददाताः राजस्थान सरकार के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग ने मानसून के दौरान और उसके बाद होने वाली सभी तरह की मौसमी बीमारियों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए अभी से विस्तृत एक्शन प्लान तैयार कर लिया है. इसी एक्शन प्लान की जानकारी देने के लिए सोमवार को अजमेर व कोटा संभाग के जिलों के चिकित्सा विभाग की एक संयुक्त बैठक टोंक जिला कलेक्ट्रेट के सभागार में आयोजित की गई. दोपहर सत्र में रूरल हेल्थ के अतिरिक्त निदेशक डॉ. सुनील सिंह ने सभी 8 जिलों अजमेर, नागौर, भीलवाड़ा, टोंक, कोटा, झालावाड़, बारां व बूंदी जिले के मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारियों से जिला स्तर पर की गई तैयारियों या फिर उन में आने वाली दिक्कतों का फीडबैक लिया. दोपहर सत्र में इस बैठक में भाग लेने के लिए निदेशक पब्लिक हेल्थ डॉ. बीआर मीणा भी टोंक पहुंचे और सभी अधिकारियों से मौसमी बीमारियों जिनमें की स्वाइन फ्लू, मलेरिया, डेंगू व स्क्रब टाइफस के लिए विशेष रूप से औषधियों के अग्रिम इंतजाम किए जाने के निर्देश दिए. मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारीयों द्वारा वाहनों का अभाव बताए जाने पर इस बात को मुख्यमंत्री तक पहुंचाए जाने पर चर्चा की गई. मुख्यमंत्री तक इस बात को पहुंचाने की जिम्मेदारी झालावाड़ सीएमएचओ को सौंपी गई. निदेशक बीआर मीणा ने बारिश के दिनों नें सर्प दंश की घटनाएं अत्यधिक आने पर सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को पर्याप्त मात्रा में स्नैक एंटी वैनम स्टोर में रखे जाने के भी निर्देश दिए. बैठक में संयुक्त निदेशक अजमेर डॉ. गजेंद्र सिंह सिसोदिया भी मौजूद रहे.

Share This Post

Post Comment