श्रीगंगानगर में शराब के ठेके रहे बंद, हड़ताल पर गए ठेकेदार

बिकानेर, राजस्थान/नगर संवाददाताः श्रीगंगानगर में शराब की दुकानों पर लगातार कार्रवाइयों से घबराए ठेकेदारों ने सोमवार को एकाएक हड़ताल कर अपनी शराब दुकानों के ताले बंद कर दिए. शहर के तीन दर्जन से अधिक शराब दुकानों पर ताले लटके रहे. इधर, शराब कारोबारियों ने जिला आबकारी अधिकारी के कार्यालय के आगे धरना प्रदर्शन कर पुलिस विभाग की कार्रवाइयों पर रोक लगाने की मांग की और अपनी शराब की दुकानों की चाबियां आबकारी अधिकारी को सौंप दीं. पिछले कुछ दिनों से शहर में आठ बजे के बाद शराब बेचने पर सख्ती से रोक लगाई जा रही है. पुलिस विभाग की गाडिया शाम साढ़े सात बजे के बाद ही शराब ठेके के आगे आ कर खड़ी हो जाती हैं. ऐसे में शराब का व्यवसाय करना काफी मुश्किल हो रहा है. जिला आबकारी अधिकारी व पुलिस विभाग एकमत है. उनका कहना है कि कोई चाहे कितने ही धरना प्रदर्शन करे कानून की पालना की जाएगी. रात आठ बजे के बाद किसी भी सूरत में शराब नहीं बिकने दी जाएगी. दबी जुबान में शराब ठेकेदार आरोप लगा रहे हैं कि सारा खेल पुलिस विभाग मंथली बढ़ाने के लिए कर रहा है. नए आए अधिकारी अपनी धौंस जमाने के चक्कर में शराब की दुकानों पर जानबूझकर गलत तरीके से छापे मारते हैं और साथ ही उनके कर्मचारियों के साथ मारपीट भी करते हैं.

Share This Post

Post Comment