बिना आंखों के CBSE में रच दिया इतिहास, दिव्यांग तेजल अब पढ़ेंगी दिल्ली यूनिवर्सिटी में

रायपुर, छत्तीसगढ़/मयूर जैनः इंसान के हौसले बुलंद हों, तो भी कामयाबी की राह में शारीरिक खामियां आड़े नहीं आतीं। अगर मंजिल हासिल करने के लिए जज़्बा कायम हो, तो सचमुच पूरी कायनात इंसान के साथ होती है। इस लाइन को एक बार फिर सच कर दिखाया शहर की होनहार तेजल पटेल ने। दृष्टिबाधित होने के बावजूद सीबीएसई पैटर्न में पूरे छत्तीसगढ़ में 12 वीं की परीक्षा में टॉप करने वाली तेजल को अब डीयू (दिल्ली विश्वविद्यालय) में प्रवेश मिल चुका है। अब वह दिल्ली में सोशियोलॉजी (ऑनर) की पढ़ाई करेगी। तेजल छत्तीसगढ़ की संभवत: पहली होनहार प्रतिभा है, जिसने शारीरिक चुनौती के बावजूद देश के एक बड़े शैक्षणिक संस्थान तक का सफर पूरा कर लिया।

Share This Post

Post Comment