प्राइवेट पार्ट के रास्ते युवक के पेट में कंप्रेसर से भर दी हवा

रीवा, मध्य प्रदेश/नगर संवाददाताः मध्यप्रदेश के रीवा जिले में मानवता को तार तार कर देने वाली घटना सामने आई है. यहां मामूली झगड़े में एक श्रमिक ने अपने सहकर्मी के प्राइवेट पार्ट के रास्ते पेट में कंप्रेसर से हवा भर दी, जिसके दबाव से उसकी आंतें ही फट गईं. अब पीड़ित जिंदगी और मौत के बीच जिला अस्पताल में संघर्ष कर रहा है. दरअसल, रोंगटे खड़े कर देने वाली यह घटना चोरहटा थाना इलाके की नौबस्ता चौकी की है. जहां पर हीरामणी वर्मा नाम का मजदूर जेपी सीमेंट प्लांट में कार्यरत है. रविवार को वह हर रोज की तरह वह नियमित रूप से कंप्रेसर से धूल की सफाई के लिए हवा का प्रेशर मार रहा था. इसी दौरान प्लांट का एक और कर्मचारी मनीष कोरी उसके पास आया और पुरानी किसी बात को लेकर उससे विवाद करने लगा. जब पीड़ित ने उससे किसी भी तरह की बात करने से मना कर दिया. यह सुनकर मनीष को गुस्सा आ गया और उसने कंप्रेसर के पाइप को छीनकर हीरामणी के लेट्रिन के रास्ते पर अड़ाकर प्रेशर दे दिया, जिससे पीड़ित हिरामणी का पेट फूलने लगा और वो वहीं बेहोश होकर गिर गया. इस वारदात को अंजाम देने के बाद मनीष वहां से भाग खड़ा हुआ. बाद में वहां मौजूद अन्य साथियों ने पीड़ित को उठाकर जेपी सीमेंट फैक्ट्री स्थित अस्पताल ले गए. जहां से उसे इलाज के लिए रीवा के संजय गांधी अस्पताल भेज दिया गया. अस्पताल के डॉक्टर एसके पाठक ने बताया कि, अस्पताल में भर्ती मजदूर की हालत काफी नाजुक है. आंतें हवा के दबाव से फट गईं हैं. हालांकि, डॉक्टरों का मानना है कि ऑपरेशन के बाद पीड़ित की हालत अब खतरे से बाहर है. पुलिस अधीक्षक भरत दुबे ने बताया कि, नौबस्ता चौकी में पीड़ित के परिजनों ने मामले की शिकायज दर्ज कराई है. पुलिस ने अस्पताल पहुंचकर पीड़ित का बयान लिया है. आरोपी के ऊपर मामला दर्ज कर लिया गया है और घटना की जांच की जा रही है.

Share This Post

Post Comment