पाकिस्तान की जेलों में कैद हैं 518 भारतीय

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः भारत और पाकिस्तान ने अपने-अपने यहां जेलों में बंद एक-दूसरे के नागरिकों की सूची का आदान-प्रदान किया. ताजा आंकड़े दर्शाते हैं कि 463 मछुआरों समेत 518 भारतीय कैदी पाकिस्तानी जेलों में बंद हैं. विदेश मंत्रालय ने एक वक्तव्य में कहा, ”भारत और पाकिस्तान ने नई दिल्ली और इस्लामाबाद में कूटनीतिक माध्यम से एक साथ नई दिल्ली और इस्लामाबाद में अपनी-अपनी जेलों में बंद एक-दूसरे के नागरिकों की सूची का आदान-प्रदान किया.” पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने बताया कि पाकिस्तान सरकार ने 463 मछुआरों और 55 अन्य समेत 518 भारतीय कैदियों की सूची इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग को सौंपी. भारत और पाकिस्तान को एक जनवरी और एक जुलाई को एक-दूसरे की हिरासत में बंद कैदियों की सूची का आदान-प्रदान करने की जरुरत होती है. ऐसा 21 मई 2008 को दोनों देशों के बीच हस्ताक्षरित वाणिज्यिक पहुंच समझौते (कॉन्सुलर एक्सेस एग्रीमेंट) के प्रावधानों के अनुसार करना होता है. भारत ने कहा, ”वह पाकिस्तान के साथ प्राथमिकता के आधार पर कैदियों और एक-दूसरे के देश में मछुआरों से जुड़े मामलों समेत मानवीय मामलों का समाधान करने को प्रतिबद्ध हैंं.” विकास स्वरूप ने बताया, “भारत, पाकिस्तान के मानवीय मुद्दों को निपटाने को लेकर हमेशा से प्रतिबद्ध रहा है, जिसमें एक-दूसरे देशों की जेलों में कैद आम नागरिक और मछुआरे शामिल हैं.”

Share This Post

Post Comment