महिला एवं बाल चिकित्सालय में गंदगी का आलम

चित्तौड़गढ़, राजस्थान/नगर संवाददाताः मात्र 6 माह पूर्व हुए लोकार्पण के बाद समय-समय पर जिला कलेक्टर एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा चिकित्सालयों का औचक निरीक्षण कर वहां पर्याप्त सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए कई बार दिये गए निर्देशों के बावजूद स्थानीय महिला एवं बाल चिकित्सालय में गंदगी का आलम बरकरार है। नवनिर्मित इस भवन के विभिन्न वार्डो, शौचालयों तथा अन्य कक्षों में सफाई व्यवस्था के अभाव में न केवल कचरा बिखरा रहता है बल्कि सफाई कर्मियों द्वारा समुचित सफाई नहीं करने से हर ओर गंदगी ही दिखाई देती है। श्री सांवलिया जी राजकीय चिकित्सालय के पूर्व आपात सेवा द्वार पर इन दिनो खड़े वाहनो का दृश्य उसे पार्किंग स्थल बनाता जा रहा है। विशाल परिसर में दुपहिया व चौपहिया वाहनो के लिए पार्किंग व्यवस्था उपलब्ध है लेकिन चिकित्सा कर्मियों व एम्बुलेंस चालकों द्वारा इस द्वार को पार्किंग स्थल बनाकर वाहन खड़े किये जाते है जिससे कभी भी आपात स्थिति में आने वाली एम्बुलेंस अथवा रोगियों को खासी परेशानी उठानी पड़़ सकती है।

Share This Post

Post Comment