रात को एक ही समय में लूट की दो बड़ी वारदात

रायपुर, छत्तीसगढ़/मयूर जैनः राजधानी में बुधवार रात को एक ही समय में लूट की दो बड़ी वारदात हुई। आउटर में एक युवा सराफा कारोबारी की गोली मारकर हत्या कर दी गई तो शहर के बीच में एक कलेक्शन एजेंट की आंखों में मिर्च पावडर फेंककर 12 लाख स्र्पए लूट लिए गए। इन वारदातों के बाद पुलिस अलर्ट हुई। देर रात तक सराफा कारोबारी के हत्यारों का पता नहीं लग सका और न ही उनका कोई सुराग मिला। कलेक्शन एजेंट के साथ लूट के मामले में एक संदेही को पकड़ा गया है। पुलिस के मुताबिक संतोषी नगर स्थित आदिश्वर ज्वेलर्स का संचालक पंकज जैन (34) पिता स्व. नेमीचंद जैन रोज की तरह रात दस बजे दुकान बंद करके एक्टिवा से अपने घर धमतरी रोड स्थित भैरव सोसायटी जा रहा था। उसने कंधे पर सोने-चांदी के जेवर और नकद से भरा बैग लटका रखा था। पंकज रामकृष्ण केयर हॉस्पिटल के आगे जैन मंदिर टर्निंग से थोड़ा आगे बढ़ा, उसी वक्त लुटेरों ने उसके सीने में गोली दाग दी। गोली की आवाज सुनकर भैरव सोसायटी के लोग घरों से निकले और पंकज को अस्पताल लेकर पहुंचे। डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। शार्ट पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा कि पंकज को तीन गोलियां मारी गई थी। घटना से व्यापारियों में भारी आक्रोश है। चेम्बर ऑफ कॉमर्स के मंत्री नरेंद्र दुग्गड़ ने कहा कि शहर में कानून व्यवस्था नाम की चीज नही बची है। सरकार से व्यापारियों ने की सुरक्षा की मांग की है। चेम्बर ऑफ कामर्स ने देर शाम आपात बैठक बुलाई है। पुलिस के अनुसार लूट की दूसरी वारदात रात दस बजे के लगभग देवेंद्र नगर ऑफिसर्स कॉलोनी के पास स्थित साहू हॉस्पिटल के सामने हुई। देवेंद्र नगर निवासी वनोपज ब्रोकर हमीद भाई का कलेक्शन एजेंट स्टेशन रोड निवासी रामदास साहू (37) भैंसथान क्षेत्र से 12 लाख स्र्पए कलेक्शन कर देवेंद्रनगर जा रहा था। देवेंद्रनगर चौक के पास से बाइक सवार दो लोग उसके पीछे लग गए। साहू हॉस्पिटल के सामने लुटेरों ने उसकी आंखों में मिर्च पावडर फेंका और स्र्पयों से भरा बैग लूटकर भाग निकले। गंज थाना में लूट की रिपोर्ट दर्ज हुई है। पुलिस एक संदिग्ध को पकड़कर उससे पूछताछ कर रही है।

Share This Post

Post Comment