हनुमान जी मंदिर को असंवैधानिक तरीके से गिराया

हनुमान जी मंदिर को असंवैधानिक तरीके से गिराया

कृष्णा, आंध्र प्रदेश/गोपाल सोलंकीः आन्ध्र प्रदेश की नवीन राजधानी अमरावती विजयवाड़ा शहर कृष्णा नदी के किनारे अति प्राचीन यमुनादास मठ मे हनुमान जी मंदिर को असंवैधानिक तरीके से गिराया जा रहा है। यह खबर मिलते ही राजस्थानी प्रवासी संघ के कुछ कार्यकर्ता वहाँ पहुँचें, तो उनके साथ मारपीट हुई जिससे सुरेश कुमार राजपुरोहित को हाथ मे चोट आई है। उन्हे तुरंत अस्पताल मे भर्ती करवाया गया उसके उपरांत हिन्दू समाज मे रोष उभर आ रहा है, आखिर किसी भी प्रकार के नोटिस दिये बिना मंदिर को खंडित करने के पीछे क्या राज है। जबकी वहीं कुछ ही दुरी पर एक मस्जिद सड़क के बीचो बीच बनी हुई है। जहाँ सड़क को मोड़ दी है, लेकिन मंदिर को ध्वस्त कर दिया। अभी अभी जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंप रहे है और नगरपालिका मे भी शिकायत कर रहे है। इस प्रकार धार्मिक आस्था पर ठेस पहुँचाना दंगे भडकाने जैसे कार्य हो रहा है। राजस्थानी प्रवासी बंधुओं मे गौ रक्षा दल के अध्यक्ष प्रदीप सिंह, जोशी जी राष्ट्रीय स्वयं सेवक, गंगराज गौखराज विजयवाड़ा शहर बजरंग दल लीडर, रसीक संघवी राजस्थानी प्रवासी संघ सदस्य, मुकेश राजपुरोहित, भरत सोलंकी, गोपाल सोलंकी, गौवर्धन सोलंकी, विनोद जैन, कमलेश जैन, दिनेश राजपुरोहित एवं गणमान्य लोग मौजूद है। रात तक मंदिर को खाली न कराने पर अड़े हुए है।

Share This Post

Post Comment