एटीएम के इस्तेमाल पर लेन-देन शुल्क की वसूली से भर रहा SBI का खजाना

नीमच, मध्य प्रदेश/नगर संवाददाताःसबसे बड़े कर्जदाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) की कमाई लेन-देन की मुफ्त सीमा के बाद एटीएम के इस्तेमाल पर खाताधारकों से वसूले जाने वाले शुल्क से बढ़ती जा रही है. एसबीआई ने वित्त वर्ष 2015.16 में एटीएम इस्तेमाल पर लगने वाले लेन-देन शुल्क से 310.44 करोड़ रुपए का राजस्व अर्जित किया, जो इसके पिछले साल के मुकाबले 47.5 प्रतिशत अधिक है. मध्यप्रदेश के नीमच निवासी सामाजिक कार्यकर्ता चंद्रशेखर गौड़ ने बताया कि, उनकी आरटीआई अर्जी के जवाब में एसबीआई ने यह जानकारी दी है. एसबीआई की ओर से गौड़ को दो जून को भेजे जवाब में यह भी बताया गया कि वित्त वर्ष 2014.15 में बैंक ने लेन-देन की मुफ्त सीमा के बाद एटीएम का इस्तेमाल करने वाले खाताधारकों से 210.47 करोड़ रुपए का शुल्क वसूला था. एसबीआई ने गौड़ की एक अन्य आरटीआई अर्जी के उत्तर में बताया कि, उसने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के आदेश के मुताबिक एक नवंबर 2014 से एटीएम के लेन-देन पर शुल्क वसूलना शुरू किया था. गौड़ के मुताबिक, इस जवाब में बताया गया कि एसबीआई खुद के एटीएम पर खाताधारकों को महीने में अधिकतम पांच बार मुफ्त लेन-देन की सुविधा प्रदान करता है. इस सीमा के बाद एसबीआई के अपने एटीएम से होने वाले हर लेन-देन पर खाताधारकों से 20 रुपए के तय शुल्क साथ सर्विस टैक्स वसूलता है.

Share This Post

Post Comment