चरित्र निर्माण के लिए यम नियम का पालन करें : शिवकृष्ण आर्य

चरित्र निर्माण के लिए यम नियम का पालन करें : शिवकृष्ण आर्य

रोहतक, हरियाणा/संजयः वैदिक भारत निर्माण अभियान एवं विद्या भारती शिक्षा समिति के संयुक्त तत्वावधान में शिक्षा भारती सीनियर सेकेंडरी स्कूल गोहाना रोड रोहतक के प्रांगण में आयोजित तीन दिवसीय चरित्र निर्माण एवं योग शिविर सोमवार को भी जारी रहा। शिविर की अध्यक्षता विद्यालय के प्राचार्य संजय सोनी ने की और किरण सुखीजा ने दीप प्रज्वलित कर योग सत्र का शुभारंभ किया। योग प्रशिक्षण पतंजली योग पीठ हरिद्वार के मुख्य योगशिक्षक एवं पूर्व पार्षद शिवकृष्ण आर्य ने दिया। सामाजिक कार्यकर्ता संजय ढाका बतौर मुख्य वक्ता उपस्थित रहे। उप प्राचार्य शैलेंद्र शर्मा ने विद्यार्थियों को विश्व योग दिवस कार्यक्रम में बढ़ चढ़ कर भाग लेने के लिए प्रेरित किया। शिविर संयोजक मंजीत मलिक ने योग सत्र के शुभारंभ अवसर पर सभी का स्वागत किया। योग प्रशिक्षण का कार्यक्रम पतंजलि योगपीठ हरिद्वार के मुख्य योग शिक्षक एवं पूर्व पार्षद शिवकृष्ण आर्य के नेतृत्व में प्रारंभ हुआ। उन्होंने कहा कि चरित्र निर्माण के लिए यम नियम का पालन करें। योग शिक्षक शिवकृष्ण आर्य ने अभ्यास के क्रम को आगे बढ़ाते हुए बैठकर करने वाले पांच आसन सिद्धासन, पदमासन, शस्कासन, वज्रासन, गोमुख आसन आदि का प्रशिक्षण देते हुए पांच प्राणायाम भस्त्रिका, कपालभाति, अनुलोम, विलोम, भ्रामरी, उद्गीद आदि प्राणायामों का अभ्यास करवाया। उन्होंने कहा कि श्वासों की गति पर नियंत्रण करना प्राणायाम कहलाता है। प्राणायाम करने से मनादि इंद्रियों के दोष दूर हो जाते है। प्रत्येक व्यक्ति को यम नियम का पालन करते हुए आसन प्राणायाम का अभ्यास प्रतिदिन अवश्य करना चाहिए। मुख्यवक्ता सामाजिक कार्यकर्ता संजय ढाका ने देशभक्ति पूर्ण विचार रखते हुए कहा कि 1857 से लेकर 1947 तक भारत माता को आजाद करवाने के लिए लाखों वीर विरांगनाओं ने जेलों में काफी यातनाएं सही व हस्ते हस्ते अपना बलिदान दे दिया। हमें अपने शहीदों के जीवन से प्रेरणा लेते हुए देशभक्त बनने का संकल्प लेना चाहिए। संजय ढाका ने इस अवसर पर कर दिए देश पर न्यौछावर जिन माओ ने अपने लाल, उन माओ को मेरा सलाम, आदि देशभक्ति पूर्ण कविताएं सुनाई। विद्यालय के प्राचार्य संजय सोनी ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि भारत की प्राचीन योग विद्या को 177 देशों ने अपनाकर अंतराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का प्रस्ताव पास किया और 21 जून को दुनिया भर में योग दिवस मनाया जाने लगा। विश्व योग दिवस पर लगाए गए योग शिविर में प्रशिक्षण लेकर नियमित योगाभ्यास करने का संकल्प लें तभी विश्व योग दिवस मनाना सार्थक होगा। वैदिक भारत निर्माण अभियान की ओर से वरिष्ठ शिक्षकों को वैदिक साहित्य भेंट किया गया। कार्यक्रम के अंत में शिविर संयोजक मंजीत मलिक ने सभी का आभार व्यक्त किया। शांतिपाठ के पश्चात कार्यक्रम संपन्न हुआ। इस अवसर पर विद्यालय के प्राचार्य संजय सोनी, संजय ढाका, उप प्राचार्य शैलेंद्र शर्मा, शिवकृष्ण आर्य, पवन कुमार, उषा मलिक, राकेश भाटिया, सीमा भुटानी, किरण सुखीजा, जितेंद्र, अंजू, अमरपाल, अनुप सिंह, जयपाल, धर्मेंद्र, बबीता, मीनाक्षी, आदेश, मोना डंग, आशू कालड़ा, मंजीत मलिक, गीता, राजेश दुगल, मनीषा, हेमा, सुनीता चावला, वंदिता, सुमन सैनी, नितेष भारद्वाज, गैर शिक्षक कर्मचारी रजनीश, राजेंद्र, महेश, सुनील, अमित, नरेश कुमारी, रानी, रामसेवक विद्यार्थी, रणवीर सिंह आदि गणमान्य व्यक्तियों सहित काफी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित थे।

Share This Post

Post Comment