पीएम मोदी बोले योग को जिंदगी का हिस्सा बनाना की जरूरत है

चंड़ीगढ़/नगर संवाददाताःअंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर चंडीगढ़ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि योग को जिंदगी का हिस्सा बनाने की जरूरत है। योग हमारे पूर्वजों की विरासत है। मोदी के साथ 30 हजार लोगों ने योग किया। योग करने के दौरान 150 दिव्यांग भी मौजूद थे। इस मौके पर पीएम ने कहा कि योग से मन को शांति मिलती है। पूरे विश्व में कारोबार की तरह योग उभरा है। आज पूरी दुनिया में योग दिवस मनाया जा रहा है। देश के हर कोने में योग का कार्यक्रम हो रहा है। योग को समाज के हर तबके का समर्थन मिला है। योग मुक्ति का मार्ग तो है ही, साथ में योग जीवन अनुशासन का अनुष्ठान भी। उन्होंने कहा कि योग पर कार्य करने वालों को सम्मानित किया जाएगा। दुनिया में योग ट्रेनरों की मांग बढ़ी है। योग विश्व में आर्थिक कारोबार की तरह बढ़ रहा है। योग हमारे पूर्वजों की विरासत और योग जीरो बजट से हेल्थ इंशोरेंस देता है। योग से डायबिटीज पर कंट्रोल संभव है।

पीएम के संबोधन की अहम बातें:

–योग से मन को शांति मिलती है

–योग पर कार्य करने वालों को सम्मानित किया जाएगा

–पूरे विश्व में कारोबार की तरह उभरा योग

—आज पूरी दुनिया में मनाया जा रहा है योग दिवस

—देश के हर कोने में हो रहा योग का कार्यक्रम

—योग को समाज के हर तबके का समर्थन मिला

—योग मुक्ति का मार्ग तो है ही साथ में योग जीवन अनुशासन का अनुष्ठान भी

—दुनिया में योग ट्रेनरों की मांग बढ़ी

—योग विश्व में आर्थिक कारोबार की तरह बढ़ा

—योग हमारे पूर्वजों की विरासत

—योग जीरो बजट से हेल्थ इंशोरेंस देता है

—योग से डायबिटीज पर कंट्रोल संभव

–योग के लिए हर साल दिए जाएंगे 2 अवॉर्ड

इससे पहले दूसरे अंतरराष्ट्रीय योग दिवस समारोह में शिरकत करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार रात चंडीगढ़ पहुंचे। पंजाब और हरियाणा के राज्यपाल एवं केंद्रशासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक कप्तान सिंह सोलंकी, पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने हवाईअड्डे पर उनकी अगवानी की।

Share This Post

Post Comment