बैंक में असुविधा व स्टाफ की कमी से उपभोक्ताओं को हुई परेशानी

बैंक में असुविधा व स्टाफ की कमी से उपभोक्ताओं को हुई परेशानी

जालोर, राजस्थान/सुभाषः कस्बे के जालोर-सिरोही तिराहे पर स्थित एसबीबीजे बैंक में असुविधा व स्टाफ की कमी से उपभोक्ताओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। खास तौर पर बैंक में स्टाफ की कमी चलते उपभोक्तओं को समय पर न तो खाता खुल रहा है और न ही बैंक डायरी की एंट्री हो रही है। घण्टों तक लाईन में खड़ा रहना पड़ रहा है जिससे समय पर काम नही हो रहा है। एसबीबीजे बैंक के स्टाफ की कमी के चलते उपभोक्ताओं के समय पर बैंक डायरी की एंट्री समय पर नही हो रही है। जिसके लिए उपभोक्ताओं को बार-बार कस्बे सहित आस-पास के गांव से आना पड़ता है। और जब कभी स्टाफ दुसरी शाखा से बुलाकर डायरी एंट्री के लिये बुलाया जाता है तो कर्मचारी मषीन खराब का बहाना बनाकर उपभोक्ताओं का भटकने के लिए मजबूर कर रहे है। लेकिन मंगलवार को तो खुद शाखा प्रबंधक उपभोक्तओं की डायरी लेकर कम्प्युटर से सिर्फ बैंलैंस राषि डायरी के प्रथम पृष्ठ पर पेन द्वारा लिख कर बता रहे थे। ऐसे में उपभोक्ताओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। शाखा में स्टाफ की कमी के चलते उपभोक्ताओं के नये खाते, आधार कार्ड लिंक, एटीएम पिन नंबर, बंद खाते को शुरू करवाने में काफी समय की बर्बादी हो रही है। उपभोक्ता खाता खुलवाने में दर-दर की ठोकरें खा रहे है। ऐसी स्थिति में बडे-बुजुर्ग के लिए बार-बार चलकर बैंक आना काफी मुष्किल हो रहा है।बैंक में स्टाफ की कमी के चलते बैंक कर्मचारी एसी में बैंठकर उपभोक्ताओं की राषि जमा करते है और इसके लिए उपभोक्ता स्टाफ कम होंने से लाइन में खडा रहकर मर्गी में पषीने में लोत-पोत होकर बैंक की असुविधाओं को खुद सहन करता है। यही नही बैंक के शाखा प्रबंधक इस संबंध में कोई आगे कार्रवाही नही कर रहे है। बैंक में स्टाफ की कमी के चलते मुझे घण्टों तक लाइन में खड़ा रहना पड़ता है जिससे मेंरा पूरा दिन बैंक ही व्यतीत हो जाता है। और में अपना कोई दुसरा काम नही कर पाता हु।’’ …. ‘‘मेनें बैंक में खाता खुलवाने के लिए एक महीने पहले फार्म जमा करवाया था लेकिन आज दिन तक मेरा खाता नही खुला है। बैंक के कर्मचारी कल आना, दो दिन बाद आना, आज मेंरे पास स्टाफ की कमी का बहाना बनाकर मुझे बार-बार बैंक कर्मचारी चक्कर कटवा रहें है।

Share This Post

Post Comment