सेवा भारती के प्रांतीय साधना शिविर में अबोहर का पुन: सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

सेवा भारती के प्रांतीय साधना शिविर में अबोहर का पुन: सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

फजिल्का, पंजाब/विनीत मुटनेजाः सेवा भारती की ओर से प्रांतीय प्रशिक्षण प्रमुख माननीय श्री विजय कुमार जी को समरपित 4 दिवसीय प्रांतीय साधना शिविर स्थानीय अरोड़वंश धर्मशाला में सफलतापूर्वक संपन्न हो गया। शिविर में सारे पंजाब से लगभग 400 दीदीयों व कार्यकर्ताओं ने उत्साहपूर्वक हिस्सा लिया। स्थानीय प्रधान सतपाल गिल्होत्रा ने बताया कि प्रांतीय प्रधान यदुकुल भूषण, महासचिव सोमनाथ अग्रवाल व संरक्षक श्रीमती मधु मित्तल के योग्य नेतृत्व में आयोजित किए गए इस शिविर दीदीयों के व्यक्तित्व विकास व देश भक्ति से ओतप्रोत ज्ञानवरधक प्रतियोगिताओं के रोचक मुकाबले करवाए गए। सेवा भारती की अबोहर शाखा ने सभी मुकाबलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए प्रथम स्थान हासिल करके पिछले 6 वर्षों से अपना दबदबा कायम रखा। अबोहर ने कुल 5 पदक जीत कर पहला, फाजि़ल्का ने 4 पदक जीतकर दूसरा व चंडीगढ़ ने 4 पदक जीतकर तीसरा स्थान पाया। नाटक प्रतियोगिता में अबोहर के सुमन व साथियों ने पहला, सुनीता व साथी चंडीगढ़ तथा प्रिया व साथी धारीवाल दूसरे और सर्वजीत मौड़ मंडी व ममता अबोहर ने तीसरा स्थान प्राप्त किया। समूहगान मुकाबलों में गौरी व साथी फाजि़ल्का को प्रथम, निधी व साथी को द्वितीय व सुनीता व साथी चंडीगढ़ को तृतीय घोषित किया गया। भाषण मुकाबलों में प्रीतकौर अबोहर ने पहला, एकता अबोहर ने दूसरा व रजनी लुधियाना ने तीसरा स्थान पाया। प्रश्रोत्तरी मुकाबलों में फाजि़ल्का को प्रथम व द्वितीय तथा लुधियाना को तृतीय पुरस्कार मिला। वर्ग पहेली में राजपुरा की सरिता प्रथम, फाजि़ल्का की प्रिया द्वितीय व लुधियाना की रजनी को तृतीय चुना गया। चार्ट बनाओ में मोगा की बौबी सर्वश्रेष्ठ रही। अमृतसर की ममता सहगल दूसरे व चंडीगढ़ की मीना पठानिया तीसरे स्थान पर रहीं। प्रश्र मंच मुकाबलों में फाजि़ल्का की पूनम को पहला, सुनैना व चंडीगढ़ की वीरेंदर को दूसरा तथा अबोहर की रूहानी को तीसरा पुरस्कार मिला। दीदीयों ने भारत-पाक सीमा का भ्रमण करके गौरव का अनुभव किया। समापन समारोह में नरेश खुराना, रणधीर मुखीजा, डा. सुभाष नागपाल, मदनलाल भालोठिया सहित अन्य गणमान्य क्षेत्रवासियों ने शामिल होकर शोभा बढ़ाई।

Share This Post

Post Comment