एक बार फिर से पांच देशों के तूफानी दौरे पर निकल रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली/नगर संवाददाताः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर से पांच देशों के तूफानी दौरे पर निकल रहे हैं. आज यानी चार जून की सुबह का नाश्ता वो दिल्ली में कर रहे हैं, तो दोपहर का भोजन अफगानिस्तान के हेरात शहर में और रात का खाना कतर की राजधानी दोहा में. जी हां! मोदी आज सुबह साढ़े नौ बजे दिल्ली से रवाना होंगे, दोपहर में हेरात पहुंचेंगे, जहां उनकी मुलाकात अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अब्दुल गनी से होनी है. वहां लंच करने के बाद वो कतर के लिए रवाना होंगे, जहां शाम में न सिर्फ भारतीय समुदाय के लोगों से मिलने वाले हैं, बल्कि वहां वो कतर के शासक और वहां के व्यवसायी वर्ग से भी चार और पांच जून के कतर प्रवास के दौरान मिल रहे हैं. पीएम मोदी का दौरा कितना तूफानी है, इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि महज छह दिनों के अंदर न सिर्फ वो अफगानिस्तान, कतर, स्विट्जरलैंड, अमेरिका और मैक्सिको यानी कुल मिलाकर पांच देशों का दौरा कर रहे हैं, बल्कि इस दौरान पूरे 45 घंटे यानी करीब दो दिनों तक हवाई जहाज में उड़ते रहने वाले हैं अपने इस विदेश दौरे को पूरा करने के लिए. ध्यान रहे कि इन सभी पांच देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ उनकी औपचारिक मुलाकात भी होनी है इस दौरान. अगर छह दिन की यात्रा के दौरान होने वाले पीएम के कुल आधिकारिक कार्यक्रमों की बात की जाए, तो ये संख्या चालीस के करीब हो जाती है यानी औसतन सात कार्यक्रम प्रति दिन. ये कार्यक्रम भी तरह-तरह के हैं. एक तरफ मोदी जहां दोहा और वॉशिंगटन डीसी में भारतीय समुदाय के लोगों के साथ मुलाकात करने वाले हैं, तो दूसरी तरफ कतर, अमेरिका और मैक्सिको में वहां के स्थानीय व्यवसायियों और उद्योगपतियों के साथ. मोदी अपनी विदेश यात्रा की शुरुआत हेरात से करने वाले हैं, उसका मकसद खास है. दरअसल मोदी वहां सलमा डैम के उदघाटन के कार्यक्रम में शरीक होने वाले हैं, जिसका निर्माण भारत सरकार के आर्थिक सहयोग से हुआ है. हेरात के बाद आज शाम ही मोदी दोहा में होंगे. परसों का दिन भी वहीं बीताकर वे स्विटजरलैंड के लिए रवाना होंगे, जहां छह तारीख को बर्न में उनकी मुलाकात वहां के शासनाध्यक्ष से होनी है, जिसे कालाधन पर रोकथाम के सिलसिले में उनकी मुहिम के तौर पर देखा जा रहा है.

Share This Post

Post Comment